पंजाब में शनिवार को वाल्मिकी समुदाय द्वारा आयोजित एक दिवसीय बंद के दौरान राज्य के कई हिस्सों में हिंसा की घटनाएं हुईं और जनजीवन अस्त-व्यस्त रहा. यह बंद एक टीवी धारावाहिक के खिलाफ ऐतिहासिक तथ्यों को तोड़-मरोड़कर प्रसारित करने के आरोप में बुलाया गया था. वाल्मिकी समुदाय का कहना है कि धारावाहिक की आपत्तिजनक बातों के कारण उसकी भावनायें आहत हुई हैं.

पंजाब में बंद का आह्वान करने वाली वाल्मिकी एक्शन समिति का आरोप है कि कलर्स टीवी पर प्रसारित धारावाहिक ‘राम सिया के लव कुश’ में भगवान के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणियां की गई हैं. संगठन का कहना है कि धारावाहिक में ऐतिहासिक तथ्यों के साथ छेड़छाड़ की गई है, इससे वाल्मिकी समुदाय की धार्मिक भावना आहत हुई हैं. संगठन की मांग है कि देशभर में धारावाहिक के प्रसारण पर प्रतिबंध लगाया जाए और इसके निर्देशक तथा कलाकारों को जानबूझकर धार्मिक भावनाओं को आहत करने के लिये गिरफ्तार किया जाए.

इन्हीं मांगों को लेकर वाल्मिकी समुदाय ने राज्य में बंद का आह्वान किया था. जिसके कारण जालंधर, अमृतसर, होशियारपुर, कपूरथला, फगवाड़ा और फिरोजपुर में व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहे. अधिकारियों ने बताया कि कुछ स्थानों से हिंसा की छिटपुट घटनाओं की जानकारी मिली है. इनमें फजिल्का में हुई झड़प और जालंधर के नाकोदार में गोलीबारी की घटना शामिल हैं.