हम कभी परमाणु बम का पहले इस्तेमाल नहीं करेंगे : इमरान खान | रविवार, 01 सितंबर 2019

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि भारत के संदर्भ में उनका देश पहले परमाणु हथियारों का इस्तेमाल या फिर सैन्य हमला न करने की नीति पर चल रहा है. लाहौर में पहले अंतरराष्ट्रीय सिख सम्मेलन में उन्होंने कहा, ‘हम दोनों परमाणु हथियार रखने वाले देश हैं. अगर तनाव बढ़ता है तो दुनिया खतरे में होगी. लेकिन कभी भी हमारी तरफ से शुरुआत नहीं होगी.’

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने यह बात जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा हटाए जाने के बाद भारत के साथ सैन्य तनाव के संदर्भ में कही. इससे पहले भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा था कि अभी तक भारत की नीति परमाणु हथियारों का पहले इस्तेमाल करने की रही है, लेकिन भविष्य में इस पर पुनर्विचार हो सकता है. उधर, इमरान खान ने कहा कि युद्ध किसी समस्या का हल नहीं है और जो इस बात से इत्तेफाक नहीं रखता उसने इतिहास नहीं पढ़ा है.

हांगकांग : प्रदर्शनकारियों ने कई जगह ट्रेनें रोकीं | सोमवार, 02 सितंबर 2019

हांगकांग में तीन माह से चल रहे सरकार विरोधी प्रदर्शनों का सिलसिला जारी है. बीते सप्ताहांत हुई हिंसा के बाद लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों ने सोमवार सुबह रेलगाड़ियों को निशाना बनाया. बड़ी संख्या में काले कपड़े पहने प्रदर्शनकारी रेलगाड़ियों के दरवाजों पर खड़े हो गए और उन्हें बंद होने से रोका. पीटीआई ने बताया कि हांगकांग की भूमिगत रेल प्रणाली में कई जगह इस तरह का विरोध प्रदर्शन देखने को मिला. इसके चलते रेल सेवाएं प्रभावित हुईं. प्रदर्शनकारियों ने हड़ताल का आह्वान भी किया. इस पूरे विरोध प्रदर्शन में अहम भूमिका निभा रहे विश्वविद्यालय छात्र अगले दो हफ्ते तक कक्षाओं का बहिष्कार करने की भी योजना बना रहे हैं.

जर्मनी : दूसरे विश्व युद्ध का बम मिलने के बाद 15 हजार लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया | मंगलवार, 03 सितंबर 2019

जर्मनी के एक शहर में उस समय सनसनी फैल गई जब वहां दूसरे विश्व युद्ध में गिरा एक जिंदा बम बरामद किया गया. खबरों के मुताबिक यह हनोवर शहर की घटना है. इसके बाद 15 हजार लोगों को अपना घर छोड़ना पड़ा और उन्हें सुरक्षित जगह पर पहुंचाया गया. दूसरे विश्व युद्ध के दौरान गिराया गया यह करीब 250 किलो वजनी बम फटा नहीं था. वैसे हनोवर में ऐसा कई बार हुआ है जब इस तरह का कोई बम बरामद हुआ हो. पांच लाख की आबादी वाले हनोवर सहित जर्मनी के कई शहरों को दूसरे विश्व युद्ध के दौरान मित्र राष्ट्रों ने निशाना बनाया था.

ब्रेक्जिट पर दूसरे झटके के बाद ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने मध्यावधि चुनाव कराने का प्रस्ताव रखा | बुधवार, 04 सितंबर 2019

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को बेक्जिट मामले में बुधवार को संसद से दूसरा झटका लगा. पीटीआई के मुताबिक यह तब हुआ जब सांसदों ने बिना किसी समझौते के यानी नो डील ब्रेक्जिट को रोकने संबंधी विधेयक को समर्थन दे दिया. इसके बाद बोरिस जॉनसन ने 15 अक्टूबर को देश में मध्यावधि चुनाव कराने का प्रस्ताव रखा.

विपक्षी सांसदों और बागी टोरियों ने सुनिश्चित किया कि ब्रिटेन को यूरोपीय संघ से बिना किसी समझौते के बाहर होने से रोकने के लिए लाया गया यह विधेयक पारित हो. इसका मकसद बोरिस जॉनसन पर इसके लिए दबाव बनाना है कि वे यूरोपीय संघ (ईयू) से बाहर होने की 31 अक्टूबर की समयसीमा को बढ़ाने की मांग करें. इससे पहले ब्रेक्सिट प्रस्ताव पर संसद में कई बार हार का सामना करने के बाद पूर्व प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने मई में इस्तीफा दे दिया था. इसके बाद बोरिस जॉनसन प्रधानमंत्री बने थे.

डोरियन से बहामास में भीषण तबाही, 30 लोगों की मौत | गुरुवार, 05 सितंबर 2019

बहामास में शक्तिशाली तूफान डोरियन से मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 30 हो गई. पीटीआई के मुताबिक वहां के प्रधानमंत्री हुबर्ट मिनिस ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी. अधिकारियों ने पहले मृतकों की संख्या 20 बताई थी लेकिन साथ ही चेतावनी दी थी कि यह संख्या बढ़ सकती है. हुबर्ट मिनिस ने कहा कि डोरियन तूफान ने ‘कई पीढ़ियों को नुकसान’ पहुंचाया. बहामास इंटरनेशनल एयरपोर्ट सहित इस द्वीप देश का बड़ा इलाका पानी में डूबा है. इंटरनेट और दूसरी सेवाएं ठप हैं. संयुक्त राष्ट्र ने कहा कि इस कैरेबियाई देश में 70,000 लोगों को तत्काल सहायता की जरूरत है.

रॉबर्ट मुगाबे : जिन्होंने कभी कहा था कि उन्हें ईश्वर ही सत्ता से हटा सकता है | शुक्रवार, 06 सितंबर 2019

जिम्बाब्वे के पूर्व राष्ट्रपति और लंबे समय तक सत्ता में रहे रॉबर्ट मुगाबे का निधन हो गया. वे 95 साल के थे. उन्होंने 37 साल तक इस अफ्रीकी देश पर शासन किया. सैन्य तख्तापलट के कारण उन्हें 2017 में अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था. रॉबर्ट मुगाबे के उत्तराधिकारी एमर्सन सनान्गाग्वा ने उनके निधन की पुष्टि की. एक ट्वीट में उन्होंने शोक जताते हुए मुगाबे को ‘मुक्ति का प्रतीक’ बताया. एक लंबे समय तक रॉबर्ट मुगाबे और जिम्बाब्वे एक-दूसरे का पर्याय रहे. उनकी छवि के हमेशा दो ध्रुव रहे. एक वर्ग के लिए वे अपने स्वार्थों के लिए जिम्बाव्बे की अर्थव्यवस्था को तबाह करने वाले खलनायक थे. दूसरी तरफ कइयों के लिए वे एक हीरो थे जिसने देश को आजादी दिलाई.

विकिपीडिया पर साइबर अटैक, कई देशों में सेवा ठप हुई | शनिवार, 07 सितंबर 2019

लोकप्रिय वेबसाइट विकिपीडिया साइबर हमले के चलते कई देशों में ठप हो गई. विकिपीडिया ने इन साइबर हमलों को दुर्भावनापूर्ण बताते हुए कहा कि उसकी टीम जल्द से जल्द वेबसाइट को री-स्टोर करने पर काम कर रही है. विकिपीडिया के जर्मन अकाउंट ने शुक्रवार देर रात ट्वीट किया था कि विकिमीडिया फाउंडेशन सर्वर को भयानक डिस्ट्रीब्यूटेड डिनायल ऑफ सर्विस (डीडीओएस) का सामना करना पड़ा है. डिस्ट्रीब्यूटेड डिनायल ऑफ सर्विस (डीडीओएस) हमले में बड़े कंप्यूटरों को निशाना बनाया जाता है. इसके बाद वायरस के जरिये पूरे नेटवर्क को जाम कर कंप्यूटर को ऑफलाइन कर दिया जाता है. विकिपीडिया पर हुए इस साइबर हमले का सबसे ज्यादा असर यूरोप और मध्य-पूर्व के देशों में देखा गया है. खबरों के मुताबिक, ब्रिटेन, पोलैंड, जर्मनी, फ्रांस और इटली में इसका सबसे ज्यादा प्रभाव पड़ा है.

देश और दुनिया की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें.