भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) को चंद्रमा पर विक्रम लैंडर की स्थिति का पता चल गया है. ऑर्बिटर ने थर्मल इमेज कैमरा से उसकी तस्वीर ली है. हालांकि, उससे अभी कोई संपर्क स्थापित नहीं हो पाया है. रविवार को इसरो प्रमुख के सिवन ने मीडिया को यह जानकारी दी है.

के सिवन ने कहा, ‘हमें विक्रम लैंडर के बारे में पता चला है, वह चांद की सतह पर देखा गया है. ऑर्बिटर ने लैंडर की एक थर्मल पिक्चर ली है. लेकिन अभी तक कोई संचार स्थापित नहीं हो पाया है. हम संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं. जल्द संचार स्थापित होगा.’

खबरों के मुताबिक चंद्रयान-2 के ऑर्बिटर में लगे ऑप्टिकल हाई रिजोल्यूशन कैमरा ने विक्रम लैंडर की तस्वीर ली है. लैंडर लैंडिंग वाली तय जगह से 500 मीटर दूर पाया गया है. अब इसरो वैज्ञानिक ऑर्बिटर के जरिए विक्रम लैंडर को संदेश भेजने की कोशिश कर रहे हैं जिससे संचार स्थापित हो सके.

बीते शनिवार को चंद्रयान-2 के लैंडर ‘विक्रम’ से इसरो का तब संपर्क टूट गया था जब वह चंद्रमा की सतह से महज 2.1 किलोमीटर की ऊंचाई पर था. इसके बाद इसरो के वैज्ञानिकों में हताशा जरूर नजर आई, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पूरा देश उनके साथ खड़ा दिखा. प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्हें इससे हताश होने की जरूरत नहीं है.