संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद द्वारा जम्मू-कश्मीर के हालात पर चिंता जताए जाने की खबर को आज कई अखबारों ने प्रमुखता से जगह दी है. परिषद की मुखिया मिचेल वाचलेत के मुताबिक उन्होंने भारत से अपील की है कि वह राज्य में जारी पाबंदियों में ढील दे ताकि आम लोगों की बुनियादी सेवाओं तक पहुंच सुनिश्चित हो सके. इसके अलावा आरक्षण को लेकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले के बयान को भी कई अखबारों ने पहले पन्ने पर छापा है. इसमें कहा गया है कि जब तक सामाजिक और आर्थिक असमानता है तब तक आरक्षण जारी रहना चाहिए.

चिन्मयानंद मामला : पीड़ित छात्रा ने उत्तर प्रदेश पुलिस से जान का खतरा बताया

भाजपा नेता चिन्मयानंद पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली छात्रा ने उत्तर प्रदेश पुलिस से खुद को जान का खतरा बताया है. यह शाहजहांपुर का मामला है. दैनिक जागरण के मुताबिक पीड़िता ने कहा है कि डीएम उसके पिता को धमका रहे हैं. उसका यह भी आरोप है कि चिन्मयानंद पिछले एक साल से उसका यौन शोषण कर रहे थे जिसके उसके पास सबूत भी हैं. उधर, पुलिस ने पीड़िता के आरोपों से इन्कार किया है. दूसरी तरफ, चिन्मयानंद का दावा है कि छात्रा पैसे के लिए उन्हें ब्लैकमेल कर रही थी.

महाराष्ट्र में गांवों में सेवा देने के इच्छुक छात्रों को एमबीबीएस और एमडी में कोटा

ग्रामीण इलाकों में डॉक्टरों की भारी कमी को दूर करने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने एक नई पहल की है. द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक उसने प्रस्ताव दिया है कि एमबीबीएस में 10 और एमडी कोर्सों में 20 फीसदी सीटें ऐसे लोगों को दी जाएं जो ऐसे इलाकों में क्रमश: पांच और सात साल सेवा दे सकें. प्रस्ताव में यह भी कहा गया है कि अगर डिग्री लेने के बाद डॉक्टर यह शर्त तोड़ते हैं और उन्हें पांच साल तक की जेल का प्रावधान हो, साथ ही उनकी डिग्री भी रद्द की जाए. कैबिनेट ने इस प्रस्ताव को स्वीकृति दे दी है. जल्द ही इसे विधेयक की शक्ल में विधानसभा में पेश किया जाएगा.

84 के सिख विरोधी दंगों से जुड़े सात मामले दोबारा खोले गए, एक में कमलनाथ का नाम भी

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. द ट्रिब्यून के मुताबिक गृह मंत्रालय के आदेश पर बने एक विशेष एसआईटी ने 84 के सिख विरोधी दंगों से जुड़े सात मामले दोबारा खोले हैं. ये मामले अलग-अलग कारणों से बंद कर दिए गए थे. इनमें से एक में कमलनाथ का नाम भी है. उन पर इंदिरा गांधी की हत्या के बाद दिल्ली के रकाबगंज गुरुद्वारे को घेरने वाली भीड़ को उकसाने का आरोप है. हालांकि कमलनाथ इसे खारिज करते रहे हैं. ताजा घटनाक्रम के बाद दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने कांग्रेस मुखिया सोनिया गांधी से मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री को पद से हटाने की मांग की है.

सेल के मुखिया पर हमला कोयला माफिया ने करवाया था

दिल्ली में पिछले महीने स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (सेल) के चेयरमैन अनिल कुमार चौधरी पर हमला ‘रोड रेज’ के चलते नहीं हुआ था. हिंदुस्तान के मुताबिक यह हमला उनकी हत्या के इरादे से किया गया था. पुलिस का कहना है कि यह साजिश कोयला माफिया एके सिंह ने रची थी. एके सिंह सेल को कोयले की सप्लाई करता था. लेकिन एक खेप की गुणवत्ता घटिया पाए जाने पर अनिल कुमार चौधरी ने उसका ठेका रद्द कर दिया था जिससे उसका 80 करोड़ रु का नुकसान हुआ था. इसके बाद उसने भाड़े के बदमाशों को सेल मुखिया की हत्या की सुपारी दी थी.

इस साल की पहली तिमाही में 18 सरकारी बैंकों में करीब 32 हजार करोड़ की धोखाखड़ी

मौजूदा वित्त वर्ष की पहली तिमाही (अप्रैल से जून) के दौरान सार्वजनिक क्षेत्र के 18 बैंकों में कुल 31,898.63 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के 2,480 मामले सामने आए हैं. दैनिक भास्कर के मुताबिक यह जानकारी सूचना के अधिकार के तहत दायर किए गए एक आवेदन के जवाब में सामने आई है. देश का शीर्ष बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) धोखाधड़ी का सबसे बड़ा शिकार बना. करीब 38 प्रतिशत धनराशि से जुड़े मामले केवल इसी बैंक ने रिपोर्ट किए हैं. इस मामले में इलाहाबाद बैंक दूसरे और पंजाब नेशनल बैंक तीसरे स्थान पर रहा.