अर्थव्यवस्था में सुस्ती और वाहनों की बिक्री में गिरावट को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मंगलवार को नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने सवाल किया कि आखिर सरकार मंदी पर अपनी आंखें कब खोलेगी. एक ट्वीट में प्रियंका गांधी ने कहा, ‘अर्थव्यवस्था मंदी की गहरी खाई में गिरती ही जा रही है. लाखों हिंदुस्तानियों की आजीविका पर तलवार लटक रही है.’ उनका आगे कहना था, ‘ऑटो सेक्टर और ट्रक सेक्टर में गिरावट ‘प्रोडक्शन-ट्रांसपोर्टेशन’ में नकारात्मक विकास और बाजार के टूटते भरोसे की निशानी है. सरकार कब अपनी आंखें खोलेगी?’

प्रियंका गांधी का यह ट्वीट इस खबर के एक दिन बाद आया है कि बीते महीने यानी अगस्त में यात्री वाहनों की बिक्री में 20 साल की सबसे बड़ी गिरावट देखी गई. यह लगातार 10वां ऐसा महीना रहा जब गाड़ियों की बिक्री में गिरावट दर्ज की गई. ऑटोमोबाइल क्षेत्र देश की जीडीपी में साढ़े सात फीसदी का योगदान करता है और साढ़े तीन करोड़ से भी ज्यादा लोगों का रोजगार इससे जुड़ा है. यही वजह है कि इसकी हालत को लेकर जानकार चिंता जता रहे हैं.

कुछ दिन पहले केंद्रीय सड़क और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने वाहन कारोबारियों को आश्वस्त किया था. उन्होंने कहा था कि सरकार वाहनों पर लगने वाले जीएसटी की दर कम करेगी. उनका यह भी कहना था कि सरकार का पेट्रोल और डीजल वाहनों पर रोक लगाने का कोई इरादा नहीं है.