कर्नाटक में एक युवक ने अपने पिता की सिर्फ इसलिए हत्या कर दी क्योंकि उसे ऑनलाइन गेम पब्जी खेलने से मना किया गया था. बीबीसी के मुताबिक यह बेलगावी जिले की घटना है. बताया जा रहा है कि 21 साल के रघुवीर कुंभर को पब्जी की लत लग चुकी थी. इसका असर उसकी पढ़ाई पर पड़ रहा था. पुलिस के मुताबिक इसे लेकर पिता-पुत्र का झगड़ा हुआ था. रघुवीर चाहता था कि उसके पिता मोबाइल का रीचार्ज करवाएं ताकि वह गेम खेल सके. पिता ने मना किया तो उसने उनका सिर काट दिया.

रघुवीर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. बताया जा रहा है कि पब्जी की लत ने उसका मानसिक संतुलन बिगाड़ दिया था. पड़ोसियों ने कई बार शिकायत की थी कि रघुवीर उनके घरों पर पत्थर फेंकता है. इसी वजह से उसके पिता को कुछ दिन पहले पुलिस स्टेशन जाना पड़ा था.

भारत में पब्जी के चलते जान जाने का यह कोई पहला मामला नहीं है. बीते मई में मध्य प्रदेश से खबर आई थी कि इस गेम ने 16 साल के एक बच्चे की जान ले ली. यह नीमच जिले की घटना है. बच्चे का नाम फुरकान कुरैशी था. वह लगातार छह घंटे से मोबाइल पर पब्जी खेल रहा था और अचानक वह बेहोश हो गया. अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसकी मौत हो गई थी. बीते साल दिल्ली से खबर आई थी कि 19 साल के एक नौजवान ने अपने माता-पिता और बहन की हत्या कर दी क्योंकि उसे मोबाइल पर पब्जी खेलने की लत थी. इस गेम को लेकर जानकारों का मानना है कि इसे लगातार खेलने पर युवाओं में हिंसक प्रवृति का उभार होता है.