‘समाज में ब्राह्मणों का हमेशा से उच्च स्थान रहा है. यह स्थान उनकी त्याग और तपस्या का परिणाम है.’  

— ओम बिरला, लोकसभा अध्यक्ष

लोकसभा अध्यक्ष का यह बयान राजस्थान के कोटा में अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा के कार्यक्रम को लेकर आया. उनके इस बयान की कांग्रेस और बसपा ने निंदा की है. कांग्रेस नेता पीएल पुनिया ने कहा कि लोग योग्यता से प्रेरणास्त्रोत बनते हैं न कि जाति से.

  ‘मैं मोदी साहब से शरण और सुरक्षा की प्रार्थना कर रहा हूं.’  

— बलदेव कुमार, इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के पूर्व विधायक

43 साल के बलदेव कुमार ने भारत में राजनीतिक शरण मांगी है. फिलहाल वे अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ दो महीने से पंजाब के खन्ना कस्बे में रह रहे हैं जहां उनकी ससुराल है. पाकिस्तान वापस न जाने की बात कहते हुए उनका कहना है कि वहां अल्पसंख्यक सुरक्षित नहीं हैं.


‘मेरी राजनीतिक और सामाजिक संवेदनाएं इस बात की इजाजत नहीं देती कि मुंबई कांग्रेस में किसी बड़े लक्ष्य पर काम करने की जगह निहित स्वार्थी तत्व उनका इस्तेमाल पार्टी में अंदरूनी गुटबाजी से निपटने के लिये करें.’  

— उर्मिला मार्तोंडकर, अभिनेत्री

उर्मिला मार्तोंडकर ने यह बात कांग्रेस से इस्तीफा देते हुए कही. उन्होंने मुंबई कांग्रेस के भीतर गुटबाजी का आरोप लगाया और कहा कि इसके कर्ता-धर्ताओं की ऐसी कोई इच्छा नहीं है कि पार्टी में बदलाव आए और उसका भला हो. उर्मिला मार्तोंडकर लोकसभा चुनाव के पांच महीने पहले ही कांग्रेस में शामिल हुई थीं.


‘यह चीन की संप्रभुता का अपमान और हमारे आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप है.’   

— हुआ चुनयिंग, चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता

चीनी विदेश मंत्रालय की यह प्रतिक्रिया हांगकांग के मानवाधिकार कार्यकर्ता जोशुआ वांग और जर्मनी के विदेश मंत्री हीको मास की बर्लिन में हुई मुलाकात पर त्योरी चढ़ाते हुए आई. जोशुआ ने इस मुलाकात की एक तस्वीर ट्विटर पर साझा करते हुए लिखा था कि दोनों के बीच हांगकांग में चल रहे प्रदर्शनों पर बात हुई. चीन के स्वायत्तशासी इलाके हांगकांग में बीते तीन हफ्ते से लाखों प्रदर्शनकारी लोकतांत्रिक सुधारों की मांग के साथ आंदोलन कर रहे हैं.