फीफा विश्व कप के क्वालीफायर मैच में भारतीय फुटबॉल टीम ने अप्रत्याशित प्रदर्शन करते हुए एशियाई कप विजेता कतर को ड्रॉ पर रोक दिया. बुखार से पीड़ित अपने तिलिस्मी कप्तान सुनील छेत्री के बिना मैदान में उतरे भारतीय फुटबालरों ने जनवरी में एशियाई कप जीतने वाले कतर को कोई गोल नहीं करने दिया. पूरे मैच में गोलकीपर गुरप्रीत सिंह संधू सितारे बन कर चमके जिनसे कतर के खिलाड़ी पार नहीं पा सके. ताजा फीफा रैंकिंग में 103 नंबर पर काबिज भारत ने विश्व में 62वें नंबर की टीम कतर को दोहा में उसके ही मैदान पर जीत हासिल नहीं करने दी. हालिया समय में भारत के लिए यह सबसे अच्छा नतीजा माना जा रहा है.

इससे पहले गुवाहाटी में विश्व कप के ही क्वालीफायर मुकाबले में पांच सितंबर को ओमान ने भारत को एक के मुकाबले दो गोल से हराया था. हालांकि उस मैच में भी भारत का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा था. कतर के साथ मुकाबले के बाद अब भारत को एक अंक मिला है. उधर, कतर के पास चार अंक हैं क्योंकि उसने अपने पहले मैच में अफगानिस्तान को 6-0 से धूल चटाई थी. दोनों टीमों के बीच पिछला आधिकारिक मैच सितंबर 2007 में विश्व कप क्वालिफायर में खेला गया था जिसमें कतर ने भारत को 6-0 से हराया था.