वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के एक बयान को लेकर विपक्ष की आलोचना के बीच केंद्रीय सड़क और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने इस पर सफाई दी है. उन्होंने कहा है कि इस बयान को गलत तरीके से समझा गया. निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को कहा था कि वाहन क्षेत्र में सुस्ती का कारण यह भी है कि अब युवा अब खुद का वाहन खरीदकर मासिक किस्त देने के बजाए ओला और ऊबर जैसी आनलाइन टैक्सी सेवाओं को तरजीह दे रहे हैं. नितिन गडकरी ने कहा कि इस क्षेत्र की सुस्ती के कई कारण हैं.

इससे पहले वाहनों की बिक्री में गिरावट को ओला एवं उबर से जोड़ने संबंधी निर्मला सीतारमण के इस बयान को लेकर कांग्रेस ने मोदी सरकार पर निशाना साधा था. पार्टी के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने बुधवार को कहा कि जब इन दोनों कैब सेवा प्रदाता कंपनियों ने इतना बंटाधार कर दिया है तो फिर देश की अर्थव्यवस्था पांच हजार अरब डॉलर का आंकड़ा कैसे पार करेगी. अभिषेक मनु सिंघवी ने एक ट्वीट कर कहा, ‘मोदी का अर्थशास्त्र है कि जो कुछ अच्छा है वो हमने किया है. निर्मला सीतारमण का अर्थशास्त्र है कि जो बुरा है वो दूसरों ने किया है. फिर जनता ने आपको क्यों चुना है?’