भारत और चीन की सेना के बीच लद्दाख में चल रहा टकराव खत्म हो गया है. एनडीटीवी ने सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि ऐसा दोनों पक्षों के एक प्रतिनिधिमंडल की आपसी बातचीत के बाद हुआ. एक सूत्र का कहना था, ‘ऐसे गतिरोधों को सुलझाने के लिए व्यवस्थाएं बनी हुई हैं.’

द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक यह टकराव पैंगांग झील में हुआ था. पर्यटकों के बीच मशहूर इस झील का दो तिहाई हिस्सा चीन में है और बाकी भारत में. बताया जाता है कि जब भारतीय सेना की एक टीम झील में गश्त कर रही थी तो चीनी सैनिकों ने उसे रोक लिया और उसकी मौजूदगी पर आपत्ति की. भारतीय सेना ने इसका विरोध किया और कहा कि वह अपने इलाके में है. दोनों ओर से तनातनी बढ़ने के बाद पीछे संदेश भेजकर अतिरिक्त सैनिकों को बुला लिया गया. तनातनी की यह स्थिति बुधवार पूरे दिन रही.

यह पहली बार नहीं है जब लद्दाख की पैंगांग झील में दोनों देशों के सैनिक आपस में भिड़े हों. अगस्त 2017 में भी ऐसी ही एक घटना हुई थी. तब एक-दूसरे को धक्का देते और आपस में चिल्लाते भारतीय और चीनी सैनिकों का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. हालांकि तब भी ब्रिगेडियर स्तर की बातचीत के बाद मसला सुलझा लिया गया था.