दिल्ली में प्रदूषण से निपटने की कोशिशों के तहत नवंबर में फिर ऑड-ईवन योजना अमल में लाई जाएगी. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यह ऐलान किया है. उन्होंने कहा कि यह योजना चार से 15 नवंबर तक चलेगी. इसके तहत एक दिन उन गाड़ियों को चलने की इजाजत दी जाएगी जिनकी नंबर प्लेट की आखिरी संख्या विषम यानी ऑड है. इसके अगले वे गाड़ियां चलेंगी जिनके लिए यह संख्या सम यानी ईवन होगी.

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि उनकी सरकार ने फसलों के अवशेष जलाए जाने से होने वाले प्रदूषण से निपटने के लिए सात सूत्रीय कार्य योजना बनाई है. इसमें मास्कों का वितरण, सड़कों पर झाड़ू लगाने वाली मशीनें और वृक्षारोपण जैसी कवायदें शामिल हैं. इसके अलावा मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली सरकार इलेक्ट्रिक बसें भी खरीदेगी.

दिल्ली में पहली बार ऑड-ईवन का प्रयोग 2016 में किया गया था. अरविंद केजरीवाल ने बताया कि इस साल प्रतिबंध निजी कारों पर लागू होंगे और महिला ड्राइवरों के साथ आपातकालीन वाहनों को इनसे छूट दी जाएगी. उन्होंने यह भी कहा कि यह योजना सप्ताहांत यानी वीकेंड पर लागू नहीं होगी.

दुनिया की सबसे प्रदूषित राजधानियों में दिल्ली का नंबर पहला है. हालांकि अरविंद केजरीवाल का कहना है कि दिल्ली दुनिया का अकेला शहर है जहां प्रदूषण कम हो रहा है. उनके मुताबिक हाल के कुछ समय के दौरान दिल्ली के प्रदूषण में 25 फीसदी कमी आई है.