चीन के थियानमेन चौक पर प्रदर्शन के दौरान टैंकों का रास्ता रोककर खड़े होने वाले एक व्यक्ति की तस्वीर लेकर ‘टैंक मैन’ के नाम से मशहूर हुए फोटोग्राफर का इंडोनेशिया में निधन हो गया है. पीटीआई के मुताबिक अमेरिकी अधिकारियों ने 64 वर्षीय चार्ली कोल के बाली में निधन की पुष्टि की जहां वह लंबे समय से रह रहे थे. विदेश विभाग के एक अधिकारी ने कहा, ‘हम उनके परिवार के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करते हैं.’

चार्ली कोल ने दोनों हाथों में बैग लिए सफेद कमीज पहने उस व्यक्ति की तस्वीर लेने के लिए 1990 में वर्ल्ड प्रेस फोटो अवार्ड जीता था. यह तस्वीर बीजिंग के थियानमेन चौक पर लोकतंत्र समर्थक सैकड़ों प्रदर्शनकारियों की मौत के एक दिन बाद खींची गई थी. सफेद कमीज वाले इस व्यक्ति की पहचान आज तक नहीं हो पायी. ‘टैंक मैन’ की तस्वीर 20वीं सदी की मशहूर तस्वीरों में से एक है. हालांकि, इस तस्वीर पर चीन में पाबंदी है.

चार जून, 1989 को चीनी सेना अपने ही लोगों के खिलाफ सड़कों पर उतार दी गई थी जिसने बीजिंग के थियानमेन चौक पर सरेआम खून-खराबा कर दिया था. ये लोग राजनैतिक और आर्थिक सुधारों की मांग कर रहे थे. यह एक छात्र आंदोलन था जो बढ़ते-बढते जन आंदोलन बना और फिर जनतंत्र की प्राप्ति के लिए संघर्ष में तब्दील हो गया. इसकी परिणिति थियानमेन चौक पर बहे उन सैकड़ों लोगों के खून से हुई जो उस वक़्त वहां जमा थे.