पीयूष गोयल की भौतिकी उतनी ही अच्छी है, जितना निर्मला सीतारमण का अर्थशास्त्र.


सवाल – कैसे कह सकते हो भारत विविधताओं का देश है?

जवाब – देखो, एक तरफ अरविंद केजरीवाल हैं जो ऑड-इवन नंबरों के हिसाब से गाड़ियां चलवाते हैं और दूसरी तरफ पीयूष गोयल कहते हैं कि गणित किसी काम का नहीं है


कांग्रेस नेता – बाबा आप क्यों दुखी हैं?

राहुल गांधी – हर कोई पीयूष गोयल, निर्मला सीतारमण की बात कर रहा है. मेरी कमी किसी को महसूस ही नहीं हो रही


सप्ताह का कार्टून: मैं समझ सकता हूं कि कनेक्शन टूटने पर कैसा लगता है!

सतीश आचार्य के ट्विटर अकाउंट से

बब्बन - मोदी सरकार कचरा उठाने वालों को इतना सम्मान क्यों दे रही है?

छग्गन – क्योंकि उसने इकॉनमी, शिक्षा, खेती-किसानी सबका कचरा कर रखा है


पत्रकार – आपने आईएएस की परीक्षा टॉप की तो फिर नौकरी क्यों नहीं की?

छात्र – मुझे लगा कि ट्रैफिक हवलदार बनना नए समय के हिसाब से बेहतर करियर चॉइस रहेगी


पहला व्यक्ति - पाकिस्तान के एक मंत्री ने चंद्रयान-2 को लेकर भारत का मज़ाक उड़ाया है.

दूसरा व्यक्ति - चलो पाकिस्तान ने अपने यहां कुछ तो उड़ाया