देश की दूसरी कार निर्माता कंपनियों की तरह मारुति-सुज़ुकी भी बीएस-6 मानकों पर खरे उतरने वाले इंजन को तैयार करने में जुटी है. लेकिन ख़बरें बताती हैं कि मारुति अभी सिर्फ़ पेट्रोल इंजन को इन मानकों के अनुरूप तैयार कर रही है. डीज़ल इंजन को लेकर कंपनी की हाल-फिलहाल ऐसी कोई योजना नहीं है. जानकारी के मुताबिक मारुति डीज़ल के विकल्प के तौर पर अपनी प्रमुख गाड़ियों के सीएनजी वेरिएंट बाज़ार में उतारेगी. ऑटोमोबाइल से जुड़ी एक प्रमुख वेबसाइट की मानें तो इन कारों की फेहरिस्त में स्विफ्ट पहली होगी. फिलहाल भारत में मारुति की सोलह में से आधी कारें सीएनजी किट के साथ आती हैं.

संभावना है कि स्विफ्ट के बाद कंपनी की इग्निस, डिज़ायर, बलेनो और सियाज़ को भी सीएनजी विकल्प के तौर पर पेश किया जाएगा. फिलहाल मारुति की कुल बिक्री में तीस प्रतिशत भागीदारी सीएनजी गाड़ियों की है. इन कारों की बिक्री विभिन्न राज्यों में सीएनजी फिलिंग स्टेशनों की संख्या पर निर्भर करती है. हालांकि कंपनी के चेयरमैन आरसी भार्गव ने इशारा दिया है कि कंपनी फिटेड सीएनजी किट की कीमतें बाज़ार में लगवाई जाने वाली किटों से महंगी रहेंगी. लेकिन उन्होंने यह दावा भी किया कि कंपनी की किटें सुरक्षा के मामले में बहुत उन्नत होंगी. फिलहाल बाज़ार में उपलब्ध अधिकतर सीएनजी किटें आयात की जाती हैं जो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘मेक इन इंडिया’ योजना से मेल नहीं खाती. ऐसे में वाहन कंपनियां अपनी सीएनजी किट विकसित करने में जुटी हैं. हाल ही में भारत सरकार द्वारा दस हजार नए सीएनजी फिलिंग स्टेशन स्थापित किए जाने की घोषणा के बाद जानकारों का मानना है कि सीएनजी गाड़ियों की मांग में बड़ा इज़ाफा हो सकता है.

रॉयल एनफील्ड आरई क्लासिक 350 एस-एबीएस

दमदार बाइकें बनाने के लिए मशहूर रॉयल एनफील्ड ने अपनी नई पेशकश ‘आरई क्लासिक 350 एस-एबीएस’ बाज़ार में उतार दी है. यह बाइक कंपनी की ही आरई क्लासिक 350 डुअल चैनल एबीएस का ही एक वर्ज़न है. रॉयल एनफील्ड ने 350 डुअल चैन एबीएस को इस साल फरवरी में लॉन्च किया था जब 125 सीसी से ज्यादा क्षमता वाली बाइकों में एंटीलॉक ब्रेकिंग सिस्टम (एबीएस) अनिवार्य कर दिया गया.

लेकिन दोनों पहियों में एबीएस होने की वजह से इसकी कीमत थोड़ी ज्यादा थी और इसके लॉन्च के बाद से ही ग्राहकों की तरफ़ से इस बाइक की कीमत घटाए जाने की मांग आने लगी थी. नतीजतन कंपनी ने अब इस बाइक को सिंगल एबीएस यानी सिर्फ़ फ्रंट व्हील के साथ एबीएस देकर लॉन्च किया है. इस तरह आरई क्लासिक 350 एस-एबीएस 1,45,975 रुपए में उपलब्ध करवाई गई है जो कि इसके डुअल चैन एबीएस वर्ज़न से करीब नौ हजार रुपए सस्ती है.

कंपनी ने इस बाइक को दो नए रंगों- मर्करी सिल्वर और प्योर ब्लैक में उतारा है. कंपनी ने अपनी दूसरी बाइकों की तरह इस बाइक की कलर स्कीम भी युवा ग्राहकों से फीडबैक की शक्ल में मिली फ़रमाइश को देखते हुए चुनी है. नई आरई क्लासिक 350 के व्हील्स, इंजन, फेंडर्स और रियर व्यू मिर्रस के साथ दिया गया ब्लैक आउट ट्रीटमेंट इसे फ्रेश अपील देता है. परफॉर्मेंस के लिहाज से रॉयल एनफील्ड 350 एस-एबीएस में कोई बदलाव नहीं किया गया है. इसके साथ कंपनी ने अपना मौजूदा सिंगल सिलेंडर वाला 346 सीसी क्षमता का इंजन दिया है जो 20.1 बीएचपी अधिकतम पॉवर के साथ 28 एनएम का टॉर्क पैदा करने में सक्षम है. इस इंजन के साथ 5-स्पीड गियरबॉक्स जोड़ा गया है. बाइक की अन्य ख़ूबियों की इसके मौजूदा मॉडल जैसी ही हैं.

बीएस-6 मानक वाली होंडा एक्टिवा

देश की सबसे बड़ी स्कूटर निर्माता कंपनी होंडा ने बीएस-6 मानकों पर खरी उतरने एक्टिवा लॉन्च कर दी है. इंजन के अलावा नई एक्टिवा-125 के साथ कुछ और भी खास अपडेट देखने को मिलते हैं जिनमें- साइलेंट स्टार्ट सिस्टम, डिजिटल एनालॉग मीटर और ऑटो स्टॉप सिस्टम प्रमुख हैं. ऑटो स्टॉप सिस्टम ट्रैफिक सिग्नल जैसी जगहों पर निष्क्रिय खड़े स्कूटर को स्वत: बंद कर ईंधन बचाने में मदद करता है.

स्कूटर के डिजिटल-एनालॉग मीटर में- दूरी, माइलेज, रियल टाइम फ्युअल एफिशिएंसी, ट्रिप डिस्टेंस, इको इंडीकेटर, क्लॉक, सर्विस ड्यू इंडिकेटर और मालफंक्शन लाइट (किसी भी गड़बड़ से जुड़े इंडिकेटर) जैसी खूबियां दी गई हैं. इसके अलावा यहां साइड स्टैंड इंडिकेटर भी दिया गया है. इससे जुड़ा खास फीचर साइड स्टैंड के खुला रहने पर स्कूटर के इंजन को स्टार्ट नहीं होने देता और दुर्घटना की स्थिति से बचाता है. वहीं, नई स्टाइल के सिग्नेचर एलईडी पोजिशन लैंप के साथ दिए गए फुल एलईडी हैडलैंप और क्रोम फिनिश वाली फ्रंट प्रोफाइल लुक्स के मामले में नई एक्टिवा को खासा आकर्षक बनाती है. कंपनी ने एक्टिवा को पांच कलर ऑप्शन- रेबेल रैड मैटेलिक, हैवी ग्रे मैटेलिक, मिडनाइट ब्ल्यू मैटेलिक, पर्ल प्रिशियस व्हाइट और मजिस्टिक ब्राउन मैटेलिक दिए हैं.

होंडा ने नई एक्टिवा के साथ 125 सीसी क्षमता का प्रोग्राम्ड फ्युअल इंजेक्शन (पीजीएम-एफआई) एचईटी इंजन दिया है. यह इंजन होंडा इनहैंस स्मार्ट पॉवर (ईएसपी) टेक्नोलॉजी से लैस है. इस तकनीक के चलते ईंधन का अधिकतम दहन संभव हो पाता है. इससे इंजन में घर्षण की कमी और पॉवर में खासी बढ़ोतरी देखने को मिलती है. हल्के पुर्ज़ों से बना यह अपडेटेड इंजन 6500 आरपीएम पर 8.1 बीएचपी पॉवर पैदा करता है. यदि आप इस स्कूटर को घर लाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको 67,490 रुपए (एक्सशोरूम शुरुआती कीमत) चुकानी होगी जो इसके अलॉय व्हील वर्ज़न के लिए 70,990 रुपए और डीलक्स वर्ज़न के लिए 74,990 रुपए तक जाती है.

नेक्सन का ‘क्राज़’ एडिशन

अपनी लोकप्रिय सबकॉम्पैक एसयूवी नेक्सन की एक लाख यूनिट बिकने की खुशी में टाटा मोटर्स ने इस कार का क्राज़ एडिशन लॉन्च किया है. जानकारों की मानें तो फेस्टिव सीज़न के दौरान टाटा की यह पेशकश युवा ग्राहकों को अपनी तरफ़ ख़ूब लुभा सकती है. कंपनी ने नेक्सन क्राज़ मैनुअल के लिए 7.57 लाख रुपए कीमत तय की है जो इसके क्राज़+ एएमटी वर्ज़न के लिए 8.17 लाख रुपए तक जाती है.

टाटा मोटर्स का कहना है कि उसने नेक्सन क्राज़ के साथ एक्सटीरियर और इंटीरियर के मोर्चे पर दस स्टाइलिंग हाइलाइट्स दिए हैं. इनमें शामिल सोनिक सिल्वर फिनिश्ड रूफ़ के साथ ट्रोम्सो ब्लैक पेंट स्कीम, ओआरवीएम पर कॉन्ट्रास्ट टैंजरिन फिनिश वाले हाईलाइट्स, ग्रिल इंसर्ट्स, व्हील एसेंट्स और टेलगेट पर लगा क्राज़ बैज नेक्सन को जबरदस्त स्पोर्टी लुक देते हैं. यदि इंटीरियर की बात करें तो यहां सीटों पर कॉन्ट्रास्ट स्टिचिंग के साथ एक्सटीरियर से मेल खाते समान टैंजरिन एसेंट्स मिलते हैं. वहीं पियानो ब्लैक कलर के डैशबोर्ड के साथ लगे एयरवेंट्स को मिला टैंजरिन कलर सराउंड भी नेक्सन को अंदर से नई फील देता है.

तकनीकी रूप से नेक्सन क्राज़-2019 में कोई बदलाव नहीं किया गया है. कार के बोनट के नीचे तीन सिलेंडर वाला 1.2 लीटर क्षमता वाला टर्बोचार्ज्ड रेवट्रॉन पेट्रोल इंजन मिलता है जो 5000 आरपीएम पर 108 बीएचपी की अधिकतम पॉवर के साथ करीब 170 एनएम का टॉर्क पैदा करने में सक्षम है. वहीं 1.5 लीटर क्षमता से लैस चार सिलेंडर वाला इसका रेवटॉर्क डीज़ल इंजन 3750 आरपीएम पर 108 बीएचपी की अधिकतम ताकत के साथ करीब 260 एनएम का टॉर्क पैदा करने में सक्षम है.

महिंद्रा एंड महिंद्रा का उत्पादन सत्रह दिन ठप रहेगा

ऑटोमोबाइल कंपनी ‘महिंद्रा एंड महिंद्रा’ ने मौजूदा तिमाही में अपने कारखानों में आठ से 17 दिन तक उत्पादन बंद रखने की घोषणा की है. कंपनी ने शुक्रवार को कहा कि बिक्री का उत्पादन के साथ समायोजन करने के लिए वह यह कदम उठा रही है.

पीटीआई के मुताबिक शुक्रवार को ‘महिंद्रा एंड महिंद्रा’ ने शेयर बाजारों को भेजी सूचना में यह जानकारी दी है. कंपनी ने कहा है कि उसने तिमाही के दौरान तीन दिन अतिरिक्त उत्पादन स्थगित रखने का फैसला किया है. इससे पहले बीते 9 अगस्त को कंपनी ने जुलाई-सितंबर तिमाही के दौरान अपने विभिन्न कारखानों में उत्पादन 14 दिन तक बंद रखने की घोषणा की थी. कंपनी द्वारा दी गई सूचना में साफ़ किया गया है कि वाहनों का पर्याप्त भंडार होने की वजह से प्रबंधन को ऐसा नहीं लगता कि इससे बाजार में उसके वाहनों की उपलब्धता पर असर पड़ेगा.

इसके साथ ही ‘महिंद्रा एंड महिंद्रा’ ने यह जानकारी भी दी है कि वह इस महीने के अंत में कृषि उपकरण क्षेत्र में भी एक से तीन दिन तक उत्पादन बंद रखेगी. इससे पहले इसी सप्ताह हिंदुजा समूह की प्रमुख कंपनी अशोक लीलैंड ने कमजोर मांग की वजह से अपने विभिन्न विनिर्माण कारखानों में उत्पादन 16 दिन तक बंद रखने की घोषणा की थी. हिंदुजा से पहले मारुति भी अपने कारखानों को कुछ दिनों तक बंद रख चुकी है.