मैंने तालिबान के साथ चल रही शांति वार्ता रोक दी है : डोनाल्ड ट्रंप | रविवार, 08 सितंबर 2019

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तालिबान के साथ चल रही शांति वार्ता रोक दी. उन्होंने कहा कि तालिबान और अफगानिस्तान के नेताओं के साथ रविवार को ‘कैम्प डेविड’ में होने वाली गोपनीय बैठक रद्द कर दी है. डोनाल्ड ट्रंप ने काबुल में पिछले सप्ताह हुई बमबारी के मद्देनजर यह कदम उठाया है.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर यह जानकारी दी. उन्होंने लिखा, ‘लगभग सभी को बिना बताए, प्रमुख तालिबान नेताओं और अफगानिस्तान के राष्ट्रपति के साथ रविवार को ‘कैम्प डेविड’ में अलग-अलग गोपनीय बैठक करनी थी.....दुर्भाग्य से (बैठक में) अपनी स्थिति को मजबूत करने के लिए उन्होंने (तालिबान ने) गुरूवार को काबुल में किए हमले की जिम्मेदारी ली, जिसमें हमारे बेहतरीन सैनिकों में से एक की जान चली गई थी और अन्य 11 लोग घायल हो गए.’

अमेरिका से बातचीत की इच्छा जताने के बाद उत्तर कोरिया ने फिर दो मिसाइलें छोड़ीं | सोमवार, 09 सितंबर 2019

अमेरिका के साथ बातचीत की इच्छा जाहिर करने के बाद उत्तर कोरिया ने एक बार फिर मिसाइलें दाग दीं. दक्षिण कोरिया के ‘ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ’ ने बताया कि मंगलवार सुबह दक्षिण प्योंगयांग प्रांत से उत्तर कोरिया ने दो ‘अज्ञात मिसाइलें’ दागीं. इस पर अभी कोई विस्तृत जानकारी नहीं मिली है. उधर, अमेरिका के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘हमें उत्तर कोरिया द्वारा मिसाइलें दागे जाने की जानकारी है. हम स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं और क्षेत्र में अपने नजदीकी सहयोगियों से बातचीत कर रहे हैं.’

उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच इसी साल फरवरी में हुई शिखर वार्ता के बेनतीजा रहने के बाद से ही दोनों देशों के बीच गतिरोध कायम है. इसके बाद हालांकि दोनों नेताओं ने जून में उत्तर और दक्षिण कोरिया को बांटने वाले असैन्यकृत क्षेत्र में मुलाकात की थी. इस दौरान आपसी बातचीत बहाल करने पर सहमति बनी थी. लेकिन तब से उत्तर कोरिया कई मिसाइल परीक्षण कर चुका है.

यूएनएचआरसी में कश्मीर पर भारत का जवाब, कहा- पाकिस्तान झूठ की फैक्ट्री चला रहा है | मंगलवार, 10 सितंबर 2019

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (यूएनएचआरसी) में जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान के झूठे आरोपों का भारत ने करारा जवाब दिया. भारत ने कहा कि कश्मीर उसका आंतरिक मसला है और पाकिस्तान झूठ की फैक्ट्री चला रहा है. मंगलवार को जिनेवा में यूएनएचआरसी की बैठक के दौरान भारतीय विदेश मंत्रालय की सचिव विजय ठाकुर सिंह ने पाकिस्तान के आरोपों का जवाब देते हुए ये बातें कहीं. उन्होंने कहा, ‘नरेंद्र मोदी सरकार घाटी में सामाजिक-आर्थिक और न्याय को बढ़ावा देने के लिए ठोस कदम उठा रही है. हालिया फैसलों का सीधा फायदा जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के नागरिकों को मिलेगा. इससे लैंगिंक भेदभाव खत्म होगा, जुवेनाइल के अधिकार बेहतर होंगे और शिक्षा और सूचना के अधिकार भी लागू होंगे.’

डोनाल्ड ट्रंप ने अपने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन की छुट्टी की | बुधवार, 11 सितंबर 2019

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन को बर्खास्त करने का ऐलान किया. उन्होंने कहा कि वे जॉन बोल्टन के रुख से असहमत थे. डोनाल्ड ट्रंप के मुताबिक वे अगले सप्ताह घोषणा करेंगे कि नया राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार कौन होगा. उन्होंने ट्वीट किया, ‘मैंने जॉन से इस्तीफा देने को कहा, जो मुझे आज सुबह दिया गया.’ डोनाल्ड ट्रंप ने आगे कहा, ‘मैंने जॉन बोल्टन को कल रात सूचित कर दिया था कि व्हाइट हाउस में उनकी सेवाओं की आवश्यकता नहीं है.’ जॉन बोल्टन बीते तीन साल में व्हाइट हाउस से बाहर होने वाले तीसरे राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार हैं. बताया जा रहा है कि उत्तर कोरिया से लेकर अफगानिस्तान तक कई मसलों पर वे डोनाल्ड ट्रंप के रुख से सहमत नहीं थे.

व्हाइट हाउस के आसपास जासूसी का आरोप झूठ है : बेंजामिन नेतन्याहू | गुरुवार, 12 सितंबर 2019

इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने इन खबरों को सिरे से खारिज किया कि उनके देश ने व्हाइट हाउस के आसपास जासूसी की. रूस की यात्रा पर गए इजराइली प्रधानमंत्री ने कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति कार्यालय के आसपास मोबाइल फोनों की कोई जासूसी नहीं की गई. बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा, ‘यह (आरोप) पूरी तरह झूठ है.’ ऑनलाइन न्यूज आउटलेट पोलिटिको के मुताबिक अमेरिकी अधिकारियों का मानना है कि व्हाइट हाउस के आसपास कॉल्स और संदेशों का गुपचुप तरीके से पता लगाने के लिए की गई कथित जासूसी के पीछे इजराइल का हाथ है. इससे हंगामा खड़ा हो गया था. उधर, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी कहा है कि उन्हें इजराइल पर भरोसा है.

सऊदी अरामको के दो संयंत्रों पर ड्रोन से हमला | शुक्रवार, 13 सितंबर 2019

सऊदी अरब की तेल कंपनी सऊदी अरामको के दो तेल संयंत्रों पर ड्रोन से हमला किया गया. वहां के सरकारी मीडिया ने यह खबर दी है. आधिकारिक सऊदी प्रेस एजेंसी ने बताया, ‘अरामको के औद्योगिक सुरक्षा बलों ने अब्कैक और खुरैस में अपने संयंत्रों में ड्रोन हमले के कारण लगी आग से निपटना शुरू कर दिया है.’ इससे पहले देश के पूर्वी हिस्से में स्थित सऊदी अरामको के दो संयंत्रों में विस्फोट होने और आग लगने की खबरें आई थीं. हालांकि इनमें आग लगने की वजह नहीं बताई गई थी.

सऊदी अरामको सऊदी अरब की राष्ट्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस कंपनी है. यह राजस्व के मामले में दुनिया की कच्चे तेल की सबसे बड़ी कंपनी भी है. दुबई स्थित प्रसारणकर्ता अल-अरबिया ने इससे जुड़ा एक वीडियो दिखाया था. इस वीडियो में भयंकर आग दिख रही है और पीछे से गोलियां चलने की आवाज आ रही है.

ओसामा बिन लादेन का बेटा हमजा अमेरिकी अभियान में मारा गया : डोनाल्ड ट्रंप | शनिवार, 14 सितंबर 2019

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अलकायदा के संस्थापक ओसामा बिन लादेन के पुत्र हमजा बिन लादेन की मौत की पुष्टि की. डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि हमजा बिन लादेन की मौत अफगानिस्तान-पाकिस्तान क्षेत्र में अमेरिका के आतंकवाद रोधी सैन्य अभियान में हुई. डोनाल्ड ट्रंप ने एक बयान में कहा, ‘अलकायदा का शीर्ष नेता और ओसामा बिन लादेन का पुत्र हमजा बिन लादेन अफगानिस्तान-पाकिस्तान क्षेत्र में अमेरिका के एक आतंकवाद विरोधी सैन्य अभियान में मारा गया है.’ हालांकि, अमेरिकी राष्ट्रपति ने यह नहीं बताया कि हमजा बिन लादेन की मौत किस जगह और किन हालातों में हुई.

देश और दुनिया की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें.