जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के मुखिया फारुख अब्दुल्ला की हिरासत को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है. बताया जा रहा है कि रविवार को पर पब्लिक सेफ्टी एक्ट लगा दिया गया है. यानी अब उन्हें दो साल या इससे ज्यादा समय तक हिरासत में रखा जा सकता है. अब तक वे एहतियाती हिरासत में थे. इससे पहले फारुक अब्दुल्ला की हिरासत को लेकर सुप्रीम कोर्ट में दाखिल एक याचिका पर केंद्र सरकार से एक हफ्ते में जवाब मांगा गया है.

पांच अगस्त को जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म किए जाने के बाद से ही फारुक अब्दुल्ला हिरासत में हैं. उनके बेटे उमर अब्दुल्ला और पीडीपी मुखिया महबूबा मुफ्ती सहित कई दूसरे नेता भी हिरासत में रखे गए हैं.