केंद्रीय श्रम और रोजगार मंत्री संतोष गंगवार के बयान पर विवाद जारी है. आज कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने सवाल किया कि पिछले पांच वर्षों में नरेंद्र मोदी सरकार ने उत्तर भारत के लोगों को कितनी नौकरियां दी हैं. संतोष गंगवार के बयान से जुड़ा वीडियो पोस्ट करते हुए प्रियंका गांधी ने अपने ट्वीट में कहा, ‘मंत्री जी, आपने इतनी बड़ी बात बोली है तो अब आंकड़े भी दे दीजिए. आपने कितनी नौकरियां पिछले 5 साल और 100 दिन में दीं? पिछले 5 वर्षों में कितने उत्तर भारतीयों को नौकरियां दीं? स्किल इंडिया कार्यक्रम के तहत कितनी नौकरियां दीं?’ उनका आगे कहना था, ‘याद रखिए, नौकरियाँ छीनने के आंकड़े जनता के पास हैं.’

बीते शनिवार को संतोष गंगवार ने कहा था कि देश में रोजगार के अवसरों की कोई कमी नहीं है, लेकिन उत्तर भारत में भर्ती के लिए आने वाली कंपनियों की शिकायत है कि उन्हें योग्य लोग नहीं मिलते. इस बयान पर विपक्षी नेताओं ने पलटवार किया. विपक्ष ने उन पर उत्तर भारत के लोगों के अपमान का आरोप लगाया. बसपा प्रमुख मायावती ने कहा कि बेरोजगारी खत्म करने के बजाय सरकार का यह कहना कि रोजगार हैं लेकिन योग्य लोग नहीं मिल रहे, हास्यास्पद है. उधर, विवाद बढ़ता देख संतोष गंगवार ने सफाई दी है. उनका कहना है कि उनके बयान को गलत समझा गया.