‘अगर देश का श्रम एवं रोजगार मंत्री यह कहे कि देश के युवा नाकारा हैं तो फिर क्या कहेंगे?’  

— राजीव शुक्ला, कांग्रेस नेता

राजीव शुक्ला ने यह बात केंद्रीय श्रम मंत्री संतोष गंगवार के बयान के बाद मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कही. बीते शनिवार को उन्होंने कहा था कि देश में रोजगार के अवसरों की कोई कमी नहीं है, लेकिन उत्तर भारत में कंपनियों को योग्य लोग पर्याप्त संख्या में नहीं मिलते. हालांकि विपक्ष के हमलों के बाद श्रम मंत्री ने कहा है कि उनकी बात को गलत तरीके से समझा गया.

‘जरूरत पड़ी तो मैं खुद जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट जाऊंगा.’

— रंजन गोगोई, मुख्य न्यायाधीश

मुख्य न्यायाधीश ने यह बात जम्मू-कश्मीर को लेकर दाखिल याचिकाओं की सुनवाई करते हुए कही. उनके मुताबिक उन्होंने जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट से एक रिपोर्ट मांगी है और इसे देखने के बाद अगर उन्हें लगा कि वहां जाना चाहिए तो वे खुद हाईकोर्ट जाएंगे. उन्होंने सरकार से राज्य में सामान्य हालात की बहाली के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी देने के लिए भी कहा है.


‘यह फैसला भारत-अमेरिका के रिश्ते की मजबूती दिखाता है. इससे यह भी पता चलता है कि भारतीय समुदाय का अमेरिकी समाज और वहां की अर्थव्यवस्था में खासा योगदान है.’

— नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह बात अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का शुक्रिया अदा करते हुए कही जिन्होंने 22 सितंबर को अमेरिका के ह्यूस्टन शहर में हो रहे ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में आने का फैसला किया है. इस आयोजन में 50 हजार से ज्यादा भारतीय अमेरिकी मौजूद रहेंगे. हालिया इतिहास में यह पहला मौका है जब दो इतने बड़े देशों के मुखिया किसी संयुक्त रैली को संबोधित करेंगे.


‘भारत को आपूर्ति में कोई दिक्कत नहीं होगी.’  

— धर्मेंद्र प्रधान, पेट्रोलियम मंत्री

धर्मेंद्र प्रधान ने यह बात सऊदी अरामको पर हुए ड्रोन हमलों के संदर्भ में कही. दुनिया में कच्चे तेल की इस सबसे बड़ी उत्पादक कंपनी ने भी कहा है कि हमलों से उसके संयंत्रों में लगी आग के चलते भारत को तेल की आपूर्ति पर कोई असर नहीं पड़ेगा. यह हमला बीते शनिवार को हुआ था.


‘मुझे एशेज श्रृंखला में अपने प्रदर्शन पर गर्व है.’

— स्टीव स्मिथ, ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज

गेंद से छेड़छाड़ मामले में दोषी पाए जाने के कारण एक साल का निलंबन झेलकर वापस आए स्टीव स्मिथ पांच मैचों की श्रृंखला के चार मैचों में खेले थे. इस दौरान उन्होंने सात पारियों में 774 रन बनाए. 30 साल के इस बल्लेबाज ने जब इंग्लैंड में अपना टेस्ट अभियान शुरू किया था तो दर्शकों ने हूटिंग से उनका स्वागत किया था. लेकिन जब वे पांचवें मैच की दूसरी पारी में आउट होकर पवेलियन लौट रहे थे तब दर्शकों ने खड़े होकर और तालियां बजाकर उनका अभिवादन किया. स्टीव स्मिथ हालांकि अपने ही देश के महान बल्लेबाज डॉन ब्रैडमैन की रिकार्ड की बराबरी नहीं कर सके जिनके नाम सात पारियों में 974 रन हैं.