पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली छात्रा का कल न्यायालय में बयान दर्ज किया गया. पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से बताया कि पीड़िता को उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में कड़ी सुरक्षा के बीच न्यायिक दंडाधिकारी (प्रथम) गीतिका सिंह के न्यायालय ले जाकर उसका बयान दर्ज कराया गया. पीड़िता ने बताया कि मजिस्ट्रेट ने करीब 12 पेज में उसका बयान दर्ज किया है. उसने अपने बयान में उसके हॉस्पिटल के कमरे से चिप और चिन्मयानंद के मालिश वाले वीडियो शूट करने में इस्तेमाल चश्मा चोरी होने और अन्य साक्ष्यों का जिक्र भी किया है. छात्रा ने यह भी बताया कि स्वामी चिन्मयानंद के बेडरूम से चादर, गद्दा, शराब की बोतलें आदि जो साक्ष्य गायब कर दिए गए थे, उनका जिक्र भी उसने बयान में किया है.

उधर, भाजपा नेता चिन्मयानंद की तबीयत खासी बिगड़ गई है. उनके वकील एवं प्रवक्ता ओम सिंह ने बताया कि पूर्व गृह राज्य मंत्री को कल रात से ही हल्का बुखार था और सोमवार रात उनकी तबीयत अचानक बिगड़ गई. उन्हें सीने में तेज दर्द हुआ और शुगर लेवल बहुत नीचे गिर गया. डॉक्टरों की एक टीम उनके आवास पर उनका इलाज कर रही है. फिलहाल उनकी हालत स्थिर है.

छात्रा ने 24 अगस्त को एक वीडियो वायरल करके चिन्मयानंद पर कई लड़कियों की जिंदगी बर्बाद करने का आरोप लगाया था. उसका यह भी दावा था कि उसे और उसके परिवार को जान का खतरा है. इसके बाद वह लापता हो गई थी. इस मामले में चिन्मयानंद के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया गया था. बाद में राजस्थान में बरामद की गई छात्रा ने चिन्मयानंद पर बलात्कार का आरोप भी लगाया था. इस सिलसिले में उसने पुलिस पर रिपोर्ट दर्ज न करने का इल्जाम भी लगाया था. सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर गठित एसआईटी इस मामले की जांच कर रही है.