अर्थव्यवस्था की सुस्ती को लेकर मोदी सरकार पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का हमला जारी है. बुधवार को एक ट्वीट कर उन्होंने कहा कि अब निवेशक भी मोदी सरकार से दूर होने लगे हैं. प्रियंका गांधी ने लिखा, ‘चकाचौंध दिखा कर रोज 5 ट्रिलियन-5 ट्रिलियन बोलते रहने या मीडिया की हेडलाइन मैनेज करने से आर्थिक सुधार नहीं होता. विदेशों में प्रायोजित इवेंट करने से निवेशक नहीं आते. निवेशकों का भरोसा डगमगा चुका है. आर्थिक निवेश की जमीन दरक गई है.’

एक अन्य ट्वीट में प्रियंका गांधी ने कहा कि भाजपा सरकार सच्चाई को स्वीकर नहीं कर रही है. उनका कहना था, ‘आर्थिक महाशक्ति बनने की दिशा में मंदी स्पीड ब्रेकर है, इसको सुधारे बिना सब रंग-रोगन बेकार है.’ प्रियंका गांधी इससे पहले भी मोदी सरकार को इस मुद्दे पर घेरती रही हैं.

उधर, सरकार का कहना है कि निवेश की वृद्धि दर बढ़ रही है. हाल में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था कि अर्थव्यवस्था में सुधार के संकेत साफ दिख रहे हैं. उन्होंने निर्यात को बढ़ावा देने के लिए कई उपायों की भी घोषणा की थी.