भारत की स्टार पहलवान विनेश फोगाट ने बुधवार को यहां विश्व चैंपियनशिप में अमेरिका की सारा हिल्डेब्रांट को हराकर 2020 टोक्यो ओलंपिक के लिये क्वालीफाई कर लिया है. 25 साल की विनेश ने 53 किलो भार वर्ग में विश्व चैंपियनशिप की रजत पदकधारी सारा पर 8-2 से शानदार जीत दर्ज की. वे अब बुधवार को कांस्य पदक के मुकाबले में जर्मनी की मारिया प्रेवोलाराकी से भिड़ेंगी. इससे पहले विनेश फोगाट ने पहले दौर में यूक्रेन की यूलिया खालवाद्जी पर 5-0 से जीत हासिल की थी जिससे वे ओलंपिक कोटे और कांस्य पदक की दौड़ में बनी हुई थीं.

साइना नेहवाल चीन ओपन के पहले ही दौर में बाहर

भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल बुधवार को यहां चीन ओपन सुपर 1000 टूर्नामेंट के महिला एकल के पहले ही दौर में बाहर हो गईं. लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता भारतीय खिलाड़ी को दुनिया की 19वें नंबर की खिलाड़ी थाईलैंड की बुसानन ओंगबामरुंगफान के खिलाफ 10-21, 17-21 से हार का सामना करना पड़ा. दुनिया की पूर्व नंबर एक खिलाड़ी साइना नेहवाल की थाईलैंड की खिलाड़ी के खिलाफ यह लगातार दूसरी हार है. चोटों से उबरने के बाद वापसी कर रही 29 साल की साइना फार्म हासिल करने के लिए जूझ रही हैं.

कार्यकाल से जुड़े नए नियम के बाद बीसीसीआई के राज्य संघों ने न्यायमित्र से हस्तक्षेप की मांग की

बीसीसीआई की 30 से अधिक राज्य इकाइयों के आगामी चुनावों पर संदेह के बादल छा गए हैं. इसकी वजह यह है कि प्रशासकों की समिति (सीओए) ने अधिकारियों के कार्यकाल को लेकर नए नियम का पालन करने को कहा है. इससे अधिकांश सदस्यों के मतदान के अधिकार खत्म हो सकते हैं. ये चुनाव 28 सितंबर को होने थे. लेकिन अब इनके कार्यक्रम में बदलाव हो सकता है क्योंकि सीओए ने राज्य संघों को सुनिश्चित करने को कहा है कि अधिकारियों के छह साल के कार्यकाल की सीमा में उनके अपनी संस्थाओं की कार्य समितियों में बिताए गए समय को भी शामिल किया जाए. अपने कार्यकाल पूरे करने के बाद इन अधिकारियों को तीन साल का ब्रेक लेना होगा. बोर्ड के सूत्रों के अनुसार अगर कार्य समिति में बिताए समय को भी जोड़ा जाएगा तो अधिकांश सदस्य मतदान के पात्र अपने 80 प्रतिशत से अधिक सदस्यों को गंवा देंगे. इसमें बंगाल क्रिकेट संघ के प्रमुख सौरव गांगुली और गुजरात क्रिकेट संघ के संयुक्त सचिव जय शाह जैसे अधिकारी भी शामिल होंगे.

चोट के बाद लियोनल मेसी की वापसी

चोट के बाद वापसी कर रहे लियोनल मेसी मौजूदा सत्र में पहली बार बार्सिलोना की ओर से मैदान पर उतरे. लेकिन चैंपियन्स लीग के पहले मैच में बोरूसिया डोर्टमंट ने उनकी टीम को गोलरहित ड्रा पर रोक दिया. लियोनल पिंडली की चोट के कारण सत्र के शुरुआती मैचों से बाहर रहे थे. बार्सिलोना की टीम हालांकि भाग्यशाली रही कि डोर्टमंड की टीम जीत हासिल नहीं कर सकी. डोर्टमंड के कप्तान मार्को रियूस ने पेनल्टी पर गोल करने का मौका गंवाया जबकि दूसरे हाफ में भी टीम कई मौकों को भुनाने में विफल रही.