इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की ‘ब्रांड वैल्यू’ 2019 में सात प्रतिशत बढ़कर 6.8 अरब डालर हो गयी है. आईपीएल की ब्रांड वैल्यू बढ़ने में इसकी मुंबई और चेन्नई फ्रेंचाइजी का योगदान सबसे ज्यादा है. मुकेश अंबानी की मुंबई इंडियंस चार सत्र की विजेता है.

‘डफ एंड फेल्प्स’ कंसलटेंसी फर्म की रिपोर्ट के मुताबिक, मुंबई इंडियंस की कीमत में 8.5 प्रतिशत की वृद्धि हुई जिससे उसकी ब्रांड वैल्यू अब 809 करोड़ रूपये की हो गयी है. फिलहाल मुंबई इंडियंस आईपीएल की सबसे मूल्यवान टीम बन गयी है. इंडिया सीमेंट्स की चेन्नई सुपरकिंग्स की ब्रांड वैल्यू में 13.1 प्रतिशत का इजाफा हुआ है और अब इसकी ब्रांड वैल्यू बढ़कर 732 करोड़ रूपये की है. जिंदल्स की दिल्ली कैपिटल्स में इस साल 8.9 प्रतिशत की वृद्धि हुई है जिसकी कीमत 374 करोड़ रूपये हो गयी है. शाहरूख खान की कोलकाता नाइटराइडर्स और विवादों से घिरे विजय माल्या की बेंगलुरू फ्रेंचाइजी की कीमत में आठ प्रतिशत की कमी आयी है. बेंगलुरू और कोलकाता फ्रेंचाइजी के अलावा मीडिया मुगल मर्डोक परिवार की राजस्थान रायल्स की ब्रांड वैल्यू भी कम हुई है. रायल्स की ब्रांड वैल्यू एक साल पहले 284 करोड़ रूपये थी और अब घटकर 271 करोड़ रूपये हो गयी है.

भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने 2008 में प्रीमियर टी20 क्रिकेट लीग की शुरुआत की थी जिसमें कोरपोरेट जगत की आठ टीमों ने हिस्सा लिया था. इसकी सफलता को देखकर बाद में दो और टीमों को शामिल किया लेकिन बाद में फिर इसकी संख्या आठ हो गयी है.