पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने असम में नागरिकता रजिस्टर यानी एनआरसी का मुद्दा उठाया. बैठक के बाद उन्होंने कहा कि असम में कई भारतीयों को एनआरसी से बाहर कर दिया गया है जिनमें बांग्ला और हिंदी भाषियों के साथ गोरखा और असमी लोग भी शामिल हैं. ममता बनर्जी के मुताबिक उन्होंने अमित शाह से इन लोगों के मामलों की छानबीन कराने का अनुरोध किया है. इस खबर को आज कई अखबारों ने पहले पन्ने पर छापा है. इसके अलावा पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की न्यायिक हिरासत तीन अक्टूबर तक बढ़ने की खबर भी प्रमुख सुर्खियों में शामिल है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राममंदिर पर बयानवीरों को फटकार लगाई

सुप्रीम कोर्ट में राम जन्मभूमि मसले पर सुनवाई जारी रहते राम मंदिर पर टीका-टिप्पणी करने वालों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जमकर फटकार लगाई है. दैनिक जागरण के मुताबिक गुरुवार को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस की महाजनादेश यात्रा के समापन पर नासिक में एक रैली के दौरान उन्होंने कहा, ‘जब मामला सर्वोच्च न्यायालय में चल रहा है. सभी पक्ष अपनी बात रख रहे हैं. सर्वोच्च न्यायालय लगातार समय निकालकर सभी की बात सुन रहा है, तो मैं हैरान हूं कि ये ‘बयान बहादुर’ कहां से टपक गए!’ दो दिन पहले ही शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने संसद में कानून बनाकर राममंदिर निर्माण की वकालत की थी. उन्होंने दावा किया था कि मंदिर की पहली ईंट शिवसैनिक ही रखेगा.

आरकेएस भदौरिया नए वायु सेना प्रमुख होंगे

एयर मार्शल आरके एस भदौरिया नए वायुसेना प्रमुख होंगे. द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक वे मौजूदा वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ का स्थान लेंगे जो 30 सितंबर को रिटायर होने जा रहे हैं. आरकेएस भदौरिया इसी साल मई में वायुसेना के उप-प्रमुख बने थे. नेशनल डिफेंस अकादमी से जुड़े रहे भदौरिया जून 1980 में वायुसेना के लड़ाकू दस्ते में शामिल हुए थे. वे हल्के लड़ाकू विमान (एलसीए) तेजस के मुख्य प्रशिक्षक पायलट रह चुके हैं. उनकी राफेल सौदे में भी अहम भूमिका थी. दिलचस्प बात यह है कि एयर मार्शल आरकेएस भदौरिया भी 30 सितंबर को रिटायर होने वाले थे, लेकिन अब माना जा रहा है कि उनका कार्यकाल बढ़ाया जा सकता है.

कर्ज बांटने के लिए सरकार ‘शामियाना’

अर्थव्यवस्था की सुस्ती और त्योहारी सीजन को देखते हुए सरकार ने बाजार में मांग बढ़ाने की तैयारी कर ली है. इसके लिए ज्यादा से ज्यादा कर्ज मुहैया कराने का फॉर्मूला आजमाया जाएगा. इसमें सरकारी क्षेत्र के बैंकों की भूमिका सबसे अहम होगी. हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक इन बैंकों के प्रमुखों के साथ वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को बैठक की. इसमें फैसला हुआ कि अगले 20 दिनों में देश के 400 जिलों में ‘शामियाना फॉर्मूले’ के तहत कर्ज बांटा जाएगा कर्ज आम जनता को भी दिया जाएगा और गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) को भी ताकि वे भी होम, ऑटो और दूसरे लोन वितरित कर सकें. इसके लिए बैंकों की तरफ से शिविर लगाए जाएंगे और उनमें एनबीएफसी के साथ ही आम जनता को भी बुलाया जाएगा.

‘हाउडी मोदी’ के दौरान खलिस्तानी और कश्मीरी अलगाववादियों के हंगामे की आशंका

अमेरिका के ह्यूस्टन में ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम के दौरान खलिस्तान समर्थकों और कश्मीरी अलगाववादियों के हंगामे की आशंका है. द ट्रिब्यून के मुताबिक इनमें सिख्स फॉर जस्टिस नाम के संगठन के कार्यकर्ता भी शामिल हैं जो खलिस्तान के मुद्दे पर जनमत संग्रह की मांग करते रहे हैं. ये लोग अपने इस विरोध प्रदर्शन की एक ड्रेस रिहर्सल भी कर चुके हैं. इस संगठन पर भारत सरकार प्रतिबंध लगा चुकी है. ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम 22 सितंबर को होना है.