कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा का मोदी सरकार पर हमला जारी है. एक मीडिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए उन्होंने दावा किया है कि नरेंद्र मोदी सरकार भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) का पैसा घाटे वाली कंपनियों में लगाकर देश के आम लोगों के भरोसे को चकनाचूर कर रही है. प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया, ‘भारत में एलआईसी भरोसे का दूसरा नाम है. आम लोग अपनी मेहनत की कमाई भविष्य की सुरक्षा के लिए एलआईसी में लगाते हैं, लेकिन भाजपा सरकार उनके भरोसे को चकनाचूर करते हुए एलआईसी का पैसा घाटे वाली कंपनियों में लगा रही है.’ उन्होंने सवाल किया, ‘ये कैसी नीति है जो केवल नुकसान नीति बन गई है?

प्रियंका गांधी ने जिस मीडिया रिपोर्ट का हवाला दिया है उसके मुताबिक शेयर बाजार में बिकवाली का असर कई कंपनियों पर भी पड़ रहा है. इस रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इसके चलते बीते ढाई महीने में एलआईसी को शेयर बाजार में निवेश से करीब 57,000 करोड़ रुपये की चपत लग चुकी है. बताया जा रहा है कि एलआईसी ने जिन कंपनियों में निवेश किया था, उन कंपनियों के बाजार पूंजीकरण में करीब 81 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है. हाल ही में जारी भारतीय रिजर्व बैंक के आंकड़ों के मुताबिक मार्च 2019 तक एलआईसी का कुल निवेश 26.6 लाख करोड़ रुपये का था. इसमें से 22.6 लाख करोड़ रुपये का निवेश सरकारी क्षेत्र की कंपनियों में है. केवल चार लाख करोड़ रुपये का निवेश ही निजी क्षेत्र की कंपनियों में किया गया है.