अर्थव्यवस्था में मंदी की खबरों के वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के एक और अहम ऐलान को आज सभी अखबारों ने पहले पन्ने की बड़ी खबर बनाया है. वित्त मंत्री ने कल कॉरपोरेट टैक्स को 30 फीसदी से घटाकर प्रभावी रूप से 25.2 फीसदी करने की बात कही है. उन्होंने कहा है कि इसके लिए अध्यादेश लाया जा रहा है. कॉरपोरेट जगत के साथ शेयर बाजार ने भी इस कदम का बढ़-चढ़कर स्वागत किया है. इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि कल सेंसेक्स में 2200 अंकों तक की तेजी देखी गई. यह एक दशक में किसी एक दिन के भीतर बाजार में आई सबसे बड़ी उछाल है. इसके अलावा यौन शोषण के आरोपों से घिरे भाजपा नेता चिन्मयानंद की गिरफ्तारी भी लगभग सभी अखबारों की बड़ी खबर है. उन्हें फिलहाल 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है.

एक और बैंक घोटाला सामने आया

मुश्किलों से जूझ रहे बैंकिंग सेक्टर से बुरी खबरें आना जारी है. दैनिक जागरण के मुताबिक मुंबई की एक गैर सूचीबद्ध कंपनी फ्रॉस्ट इंटरनेशनल लिमिटेड ने 14 सरकारी बैंकों के समूह को 3,635 करोड़ का चूना लगाया है. बताया जा रहा है कि बैंक ऑफ इंडिया की अगुवाई में बैंकों के संघ ने इस डिफॉल्टर कंपनी से बकाया कर्ज की वसूली की प्रक्रिया शुरू कर दी है. बैंक ऑफ इंडिया की ही इस कंपनी पर सबसे बड़ी देनदारी भी है जिसका आंकड़ा करीब 600 करोड़ रु बैठता है. इसको हाल के महीनों में सबसे बड़े बैंक घोटालों में से एक बताया जा रहा है. वसूली की प्रक्रिया के तहत बैंकों के संघ ने कंपनी के दफ्तरों पर एक नोटिस चस्पा कर मुंबई के कुछ प्रमुख इलाकों में उसकी अचल संपत्तियों को जब्त करने की धमकी दी है.

जम्मू-कश्मीर में पांच अगस्त के बाद हिरासत में लिए गए 4000 लोगों में से 3100 छोड़े गए

जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा हटाए जाने के बाद से राज्य के अलग-अलग इलाकों से हिरासत में लिए गए 4000 में से 3100 लोगों को छोड़ दिया गया है. द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक इनमें से कइयों को कुछ ही घंटों तो बाकियों को कुछ ही दिन बाद रिहा कर दिया गया था. राज्य के पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने यह भी बताया है कि बीते कुछ दिनों में राज्य से 30 ऐसे लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है जो दुकानदारों को धमका रहे थे कि वे अपनी दुकानें न खोलें. केंद्र सरकार ने पांच अगस्त को जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म कर दिया था.

वायु सेना को पहला रफाल मिला

भारतीय वायुसेना को पहला रफाल मिल गया है. दैनिक भास्कर के मुताबिक गुरुवार को फ्रांस में इसकी निर्माता कंपनी दसॉ के उत्पादन संयंत्र में एयर मार्शल वीआर चौधरी ने इस विमान में एक घंटे तक उड़ान भी भरी. भारत और फ्रांस के बीच 60 हजार करोड़ रुपए के समझौते के मुताबिक पहला रफाल भारत को ‘एक्सेप्टेंस मोड’ में सौंपा जाना था. अब अगले सात महीने तक इस विमान को फ्रांस में परीक्षणों से गुजरना होगा. आधिकारिक तौर पर पहला रफाल आठ अक्टूबर को भारत को सौंपा जाएगा. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह फ्रांस पहुंचकर पहले इस अत्याधुनिक विमान को भारतीय वायुसेना में शामिल करेंगे.

संयुक्त राष्ट्र के मुखिया कश्मीर मुद्दा उठा सकते हैं

अगले हफ्ते होने वाली संयुक्त राष्ट्र की महासभा में संस्था के मुखिया एंटोनियो गुटेरेस कश्मीर मुद्दा उठा सकते हैं. द ट्रिब्यून के मुताबिक उनके कार्यालय ने कहा है कि वे इस दौरान होने वाली चर्चा को इस मुद्दे को उठाने के लिए अवसर की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं. हालांकि अभी तक वैश्विक स्तर पर इसे लेकर भारत का पक्ष पाकिस्तान से कहीं मजबूत है. भारत का कहना है कि जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा हटाना उसका आंतरिक मामला है जिसमें उसे किसी बाहरी दखल की जरूरत नहीं है.