इराक में एक बम धमाके में 12 लोगों की मौत हो गई और पांच अन्य घायल हो गए. पीटीआई के मुताबिक यह धमाका पवित्र शहर कर्बला के पास यात्रियों से भरी एक मिनी बस में हुआ. एक अधिकारी ने बताया कि विस्फोट से पहले एक यात्री बस से उतर गया था जिसके बारे में बाद में पता चला कि वह एक सीट के नीचे विस्फोटकों से भरा हुआ बैग छोड़ गया था. मरने वाले सभी आम नागरिक थे.

फिलहाल इस हमले की जिम्मेदारी किसी ने नहीं ली है. हालांकि अधिकारियों को शक है कि इसके पीछे आईएस का हाथ हो सकता है. इराक से इस आतंकी समूह को 2017 में खदेड़े जाने के बाद से यह आम नागरिकों पर हुए अब तक के सबसे बड़े हमलों में से एक है. अधिकारियों के मुताबिक आईएएस के स्लीपर सेल अब भी सक्रिय हैं.

यह हमला शिया मुसलमानों द्वारा मनाए जाने वाले दो अहम धार्मिक अवसरों अशूरा और अराबीन के बीच की पवित्र अवधि के दौरान हुआ है. कर्बला में 11 सितंबर को ही अशूरा के दौरान भगदड़ की एक घटना में 31 से अधिक लोगों की जान चली गई थी. अशूरा पैगंबर मुहम्मद साहब के नवासे हुसैन की कर्बला में शहादत की याद में मनाया जाता है. इस दौरान पूरी दुनिया से शिया मतावलंबी कर्बला आते हैं.