कांग्रेस नेता मिलिंद देवड़ा ने मंगलवार को कहा कि उनके भविष्य के राजनीतिक कदम के बारे में जो अटकलें लगायी जा रही हैं, वे निराधार हैं. मिलिंद देवड़ा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमेरिका यात्रा की सराहना करते हुए ट्वीट किया था और इस पर प्रधानमंत्री ने जवाबी ट्वीट किया था. इसके बाद चर्चाओं का दौर शुरु हो गया था और इसे मिलिंद देवड़ा के भाजपा में जाने की अटकलों से जोड़ा जा रहा था.

महाराष्ट्र के कांग्रेस नेता मिलिंद देवड़ा ने टेक्सास में नरेंद्र मोदी के भाषण की अपने ट्वीट में प्रशंसा की थी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके ट्वीट का जवाब देते हुए मिलिंद देवड़ा के पिता और अपने दिवंगत मित्र मुरली देवड़ा की अमेरिका के साथ मजबूत संबंधों की प्रतिबद्धता को याद किया था. इसके बाद से कांग्रेस नेताओं को कई तरह के सवालों का सामना करना पड़ रहा था. महाराष्ट्र के प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता सचिन सावंत ने ऐसे ही एक सवाल पर कहा था कि मिलिंद देवड़ा की टिप्पणी पर एआईसीसी जवाब देगी.

इसके बाद मिलिंद देवड़ा ने अपने बयान में कहा कि उनके ट्वीट के आधार पर उनके अगले राजनीतिक कदम पर अटकलें लगाना गलत है. उन्होंने कहा, ‘मेरे पिता पहली बार 1968 में छात्र के रूप में अमेरिका गए थे और रॉबर्ट एफ कैनेडी से मिलने के बाद सार्वजनिक जीवन में आने और दोनों लोकतंत्रों के बीच मजबूत संबंध बनाने का फैसला किया था. संस्थानों, राजनीतिक दलों और नेताओं के साथ मेरे परिवार के रिश्ते भारत के हितों को ध्यान में रखते हुए बनाए गए थे.’ उन्होंने कहा, ‘मेरे दिवंगत पिता ने भारतीय प्रधानमंत्रियों और अमेरिकी राष्ट्रपतियों के साथ मिलकर दलगत भावना से ऊपर उठकर काम किया.’ उन्होंने इस बात पर खेद जताया कि उनकी बात का मीडिया और सोशल मीडिया पर कुछ लोग गलत मतलब निकाल रहे हैं.