दिल्ली हाई कोर्ट ने पी चिदंबरम को जमानत देने से इनकार किया, कहा - वे गवाहों को प्रभावित कर सकते हैं

दिल्ली हाई कोर्ट ने कांग्रेस नेता पी चिदंबरम को आईएनएक्स मीडिया मामले में जमानत देने से इनकार कर दिया है. अदालत ने कहा कि सबूतों के साथ छेड़छाड़ की कोई आशंका नहीं है, लेकिन ये संभव है कि पूर्व वित्त मंत्री गवाहों को प्रभावित कर सकते हैं. अदालत का यह भी कहना था कि मामले की जांच अब काफी आगे के चरण में है और ऐसे में पी चिदंबरम को जमानत देना ठीक नहीं होगा. पूर्व वित्त मंत्री पांच सितंबर से तिहाड़ में हैं. उनकी न्यायिक हिरासत तीन अक्टूबर को खत्म होनी है.

पी चिदंबरम को बीते महीने सीबीआई ने आईएनएक्स मीडिया मामले में गिरफ्तार किया था. यह 2006 का मामला है. आरोप है कि आईएनएक्स मीडिया में विदेशी निवेश की मंजूरी देने में गड़बड़ी की गई. तब वित्त मंत्री पी चिदंबरम ही थे. इस मामले में उनके बेटे कार्ति चिदंबरम भी आरोपित हैं. इस मामले की एक आरोपित इंद्राणी मुखर्जी अब सरकारी गवाह हैं. हालांकि पी चिदंबरम खुद पर लगे तमाम आरोपों से इनकार करते रहे हैं. वे इन आरोपों को केंद्र में सत्ताधारी भाजपा की बदले की राजनीति बताते हैं.

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के खिलाफ दायर सभी याचिकाएं सुप्रीम कोर्ट ने संविधान पीठ को भेजीं, कल से सुनवाई

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी करने के फैसले को चुनौती देने वाली सभी याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट ने संविधान पीठ के पास भेज दिया है. इनमें कश्मीर में लगे प्रतिबंधों का मामला उठाने वाली और घाटी में नाबालिगों की अवैध हिरासत का दावा करने वाली याचिकाएं भी शामिल हैं. न्यायमूर्ति एनवी रमण की अगुवाई वाली संविधान पीठ इन पर मंगलवार यानी कल से सुनवाई करेगी. आज ही सुप्रीम कोर्ट ने उस याचिका पर आगे सुनवाई करने से इनकार कर दिया जिसमें जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला को उसके सामने पेश करने की मांग की गई है. ये याचिका राज्यसभा सदस्य और एमडीएमके नेता वाइको ने दायर की है. अदालत ने कहा कि फारुक अब्दुल्ला जन सुरक्षा कानून के तहत हिरासत में हैं और वाइको इसे सक्षम प्राधिकरण के सामने चुनौती दे सकते हैं.

चिन्मयानंद मामले में कांग्रेस के पैदल मार्च से पहले पार्टी नेता जितिन प्रसाद नजरबंद, कई कार्यकर्ता गिरफ्तार

चिन्मयानंद मामले में कांग्रेस के पैदल मार्च से पहले आज पार्टी नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद को नजरबंद कर दिया गया. ये मार्च आज उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर से शुरू होना था और इसकी समाप्ति लखनऊ में होनी थी. पार्टी के कई कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार भी किया गया है. ये मार्च चिन्मयानंद मामले में पीड़ित छात्रा की गिरफ्तारी के विरोध में आयोजित किया जा रहा था. भाजपा नेता चिन्मयानंद पर कानून की पढ़ाई कर रही एक छात्रा ने एक साल तक यौन शोषण करने का आरोप लगाया है. वे फिलहाल न्यायिक हिरासत में है. उधर, पीड़िता को पांच करोड़ की रंगदारी मांगने के मामले में गिरफ्तार कर लिया गया था. फिलहाल वो भी न्यायिक हिरासत में है. कांग्रेस ने राज्य सरकार पर चिन्मयानंद के प्रति रियायत बरतने और छात्रा पर जुल्म करने का आरोप लगाया है.

बिहार पर बारिश की मार जारी, मरने वालों का आंकड़ा 29 तक पहुंचा

बिहार पर बारिश की मार जारी है. राज्य में पिछले दो दिनों में मरने वालों का आंकड़ा 29 तक पहुंच गया है. राज्य की राजधानी पटना किसी झील में तब्दील हो गई है. शहर की 80 फीसदी इमारतों के ग्राउंड फ्लोर में पानी भर गया है. एनडीआरएफ ने इसे असाधारण स्थिति बताया है. हालात यहां तक हैं कि उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी को भी एनडीआरएफ की एक टीम ने घर से सुरक्षित निकाला. उधर, नीतीश कुमार ने इसे आपदा जैसी स्थिति बताया है. उन्होंने कहा कि कुदरत किसी के हाथ में नहीं है और लोगों को अपना हौसला बुलंद रखना चाहिए. उधर, उत्तर प्रदेश, गुजरात, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश और राजस्थान में भी भारी बारिश जारी है. मौसम विभाग ने कहा है कि मानसून की वापसी में और भी देर हो सकती है.

चीन में एक फैक्ट्री में आग लगने से 19 लोगों की मौत

चीन में एक फैक्ट्री में आग लगने से 19 लोगों की मौत हो गई. ये हादसा पूर्वी चीन के झेजियांग प्रांत के निंगहाई शहर स्थित एक फैक्ट्री में हुआ. स्थानीय अधिकारियों के मुताबिक बचाए गए आठ लोगों में से तीन गंभीर रूप से घायल हैं. इससे पहले रविवार को चीन में एक बस और ट्रक की भीषण टक्कर में 36 लोगों की मौत हो गई थी. ये हादसा जिआंगसू प्रांत में एक एक्सप्रेसवे पर हुआ. बस में 69 लोग सवार थे. इससे ठीक एक हफ्ते पहले हुनान प्रांत में भी एक बड़ा सड़क हादसा हुआ था. वहां एक ट्रक ने भीड़ को रौंद दिया था. इस हादसे में 10 लोगों की मौत हो गई थी.