अनिल अंबानी समूह की कंपनियों के शेयरधारकों ने प्रबंधन के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने की चेतावनी दी है. पीटीआई के मुताबिक सोमवार को मुंबई में रिलायंस पॉवर की वार्षिक आम बैठक में एक शेयरधारक ने तो यहां तक कह दिया कि अगर उसके द्वारा उठाये गये मुद्दों का अगले दो से तीन महीने में हल नहीं निकाला जाता तो वह समूह की कंपनियों के खिलाफ देश का पहला क्लास एक्शन सूट दायर करेगा. इस शेयरधारक का समर्थन वहां बैठे अन्य शेयरधारकों ने भी किया. क्लास एक्शन सूट तब होता है जब बहुत से आम शेयरधारक मिलकर मुकदमा दायर करते हैं.

इस बीच कंपनी के अधिकारियों ने नियमों का हवाला देते हुए इस शेयरधारक को बोलने से रोकने की कोशिश की, लेकिन अनिल अंबानी ने उसे अपनी बात जारी रखने को कहा. इस शेयरधारक का कहना था कि वह रिलायंस समूह की सात कंपनियों में से तीन में अपने शेयरों की 90 प्रतिशत से अधिक राशि गंवा चुका है जो लगभग तीन करोड़ रुपये है. अनिल अंबानी समूह की कंपनियां पिछले काफी समय से मुश्किलों से जूझ रही हैं. इसके चलते उनके शेयरों के दाम लगातार गोता लगा रहे हैं. हालांकि उनका कहना है कि निहित स्वार्थों के लिए अफवाह फैलाने और अंधाधुंध बिकवाली ने शेयरों को प्रभावित किया है. अनिल अंबानी ने यह दावा भी किया है कि उनके समूह को नियामकीय और मध्यस्थता मामलों में 60,000 करोड़ रुपए से अधिक मिलने हैं लेकिन ये मामले सालों से लटके पड़े हैं.