बिहार में पिछले तीन दिनों से जारी मूसलाधार बारिश के कारण हुए हादसों में अब तक 42 लोगों की जान जा चुकी है. पीटीआई के मुताबिक राज्य के आपदा प्रबंधन मंत्री लक्ष्मेश्वर राय ने यह भी बताया कि सबसे ज्यादा 10 मौतें भागलपुर जिले में हुई हैं. इसके अलावा गया में छह और पटना और कैमूर में चार-चार लोगों की मौत हुई है.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को राजधानी पटना के जलमग्न हो गए इलाकों का निरीक्षण किया. मुख्यमंत्री ने राहत और बचाव कार्य के लिये बने केंद्र का जायजा भी लिया. इसके अलावा नीतीश कुमार ने जलभराव से प्रभावित क्षेत्रों के लोगों से मुलाकात कर उनकी समस्यायें सुनीं और उनके निदान के लिए अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये. मुख्यमंत्री ने जल निकासी के कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिया.

मॉनसून ने इस बार विदाई के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. अमूनन से यह सितंबर के पहले हफ्ते से छंटना शुरू हो जाता है. लेकिन उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, गुजरात और राजस्थान सहित देश के कई इलाकों में अभी तक बारिश जारी है. इसके चलते नदी-नाले उफान पर हैं. मौसम विभाग का कहना है कि अभी यह स्थिति 10 अक्टूबर तक बने रहने के आसार हैं.