उत्तर प्रदेश के रायबरेली से कांग्रेस विधायक अदिति सिंह ने महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर बुलाये गये उत्तर प्रदेश विधानसभा के विशेष सत्र में हिस्सा लिया. हालांकि उनकी पार्टी ने इस सत्र का बहिष्कार किया था. अदिति सिंह ने बुधवार से शुरू हुए 36 घंटे चलने वाले विशेष सत्र में हिस्सा लिया और अपनी बात भी रखी. समाजवादी पार्टी, बसपा और कांग्रेस ने इस सत्र का विरोध किया. उनका दावा है कि राज्य सरकार सिर्फ रिकॉर्ड बनाने के लिए ऐसा कर रही है.

पीटीआई के मुताबिक जब अदिति सिंह से उनकी पार्टी के बहिष्कार के बाद भी सदन में आने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘अगर आपने मेरा भाषण सुना होगा तो मैंने सिर्फ विकास और सतत विकास लक्ष्य के बारे में चर्चा की. मुझे जो सही लगता है, मैं करती हूं.’ उन्होंने आगे कहा कि वे सदन में आईं और चर्चा में हिस्सा लिया क्योंकि उन्हें ऐसा करना सही लगा. अदिति सिंह ने आगे कहा, ‘मैं पार्टी लाइन से ऊपर उठी और विकास पर बात करने की कोशिश की...यह मेरी पहली और शीर्ष प्राथमिकता है.’

अदिति सिंह से जब पार्टी द्वारा अनुशासनात्मक कार्रवाई की संभावना के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘यह पार्टी का निर्णय होगा और पार्टी जो भी निर्णय लेगी मैं उसे स्वीकार करने के लिए तैयार हूं.’