दिल्ली की एक अदालत ने गुरुवार को आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार मामले में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की न्यायिक हिरासत 17 अक्टूबर तक बढ़ा दी है. सीबीआई ने चिदंबरम की न्यायिक हिरासत बढ़ाने का अनुरोध किया था जिसके बाद विशेष न्यायाधीश अजय कुमार कुहार ने उन्हें 17 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया.

इससे पहले 30 सितंबर को दिल्ली हाई कोर्ट ने भी पी चिदंबरम की जमानत याचिका खारिज कर दी थी. अब पी चिदंबरम के वकीलों ने जमानत के लिए सुप्रीम कोर्ट का रूख किया है. अगर बीच में पी चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट से राहत नहीं मिलती है तो उन्हें 17 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में रहना होगा. सीबीआई ने चिदंबरम को 21 अगस्त को जोर बाग स्थित उनके आवास से गिरफ्तार किया था. सीबीआई ने 2007 में बतौर वित्त मंत्री चिदंबरम के कार्यकाल के दौरान आईएनएक्स मीडिया समूह को विदेशी निवेश संवर्द्धन बोर्ड द्वारा 305 करोड़ रूपए के निवेश की मंजूरी दिये जाने में कथित अनियमितताओं को लेकर 15 मई, 2017 को एक प्राथमिकी दर्ज की है.