मॉब लिंचिंग पर प्रधानमंत्री को पत्र लिखने वाले रामचंद्र गुहा और अन्य पर राजद्रोह का मामला दर्ज

देश में बढ़ रहे मॉब लिंचिंग के मामलों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खुली चिट्ठी लिखने वाली करीब हस्तियों के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया है. इन लोगों में चर्चित इतिहासकार रामचंद्र गुहा के अलावा फिल्म निर्देशक मणि रत्नम और अपर्णा सेन शामिल हैं. ये मामला बिहार के मुजफ्फरपुर में दायर की गई एक याचिका पर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के आदेश के बाद दर्ज हुआ है. इस याचिका में आरोप लगाया गया है कि इन हस्तियों ने देश और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि को धूमिल किया. इन सभी ने बीते जुलाई में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक खुली चिटठी लिखकर देश में भीड़ की हिंसा की हालिया घटनाओं पर चिंता व्यक्त की थी. उनका कहना था कि देश में यह समस्या एक महामारी का रूप ले चुकी है. उधर, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इसे तानाशाही बताया है. उन्होंने कहा कि जो भी सरकार के खिलाफ आवाज उठाता है उसे जेल भेज दिया जाता है.

27 फरवरी को वायु सेना के हेलिकॉप्टर को भारतीय मिसाइल ही जा लगी थी : वायु सेना प्रमुख

भारतीय वायु सेना के नए प्रमुख एयर चीफ मार्शल राकेश कुमार सिंह भदौरिया ने एक बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि 27 फरवरी को कश्मीर में क्रैश हुआ वायु सेना का हेलिकॉप्टर भारतीय मिसाइल की ही चपेट में आ गया था. उन्होंने कहा कि मामले में कोर्ट ऑफ एन्क्वायरी पूरी हो गई है, और ये एक बड़ी गलती थी. वायु सेना प्रमुख के मुताबिक ये सुनिश्चित किया जाएगा कि इस तरह की गलती भविष्य में न दोहराई जाए.

ये हादसा इसी साल 27 फरवरी को हुआ था जब बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद भारत और पाकिस्तान हवाई टकराव में उलझे थे. भारतीय वायु सेना का एमआई-17 चॉपर श्रीनगर के पास गश्त कर रहा था. तभी एक मिसाइल इसे जा लगी. इससे ये क्रैश हो गया और इसमें सवार वायु सेना के सभी छह कर्मचारियों सहित सात लोग मारे गए. बताया जा रहा है कि इसे दुश्मन देश का जहाज समझ लिया गया था. इसके थोड़ी ही देर बाद विंग कमांडर अभिनंदन का मिग 21 भी पाकिस्तानी सीमा में गिर गया था.

गौतम नवलखा को सुप्रीम कोर्ट की राहत, अब 15 अक्टूबर तक उनकी गिरफ्तारी नहीं होगी

सुप्रीम कोर्ट ने मानवाधिकार कार्यकर्ता गौतम नवलखा को गिरफ्तारी से मिली छूट की अवधि 15 अक्टूबर तक बढ़ा दी है. उसने महाराष्ट्र सरकार को भीमा-कोरेगांव मामले में उनके खिलाफ जांच के दौरान मिली सामग्री पेश करने का निर्देश भी दिया है. इससे पहले खबर आई थी कि बीते चार दिन में सुप्रीम कोर्ट के पांच जज सामाजिक कार्यकर्ता गौतल नवलखा की याचिका पर सुनवाई से खुद को अलग कर चुके हैं. पिछले महीने उन्होंने अपने खिलाफ दर्ज एफआईआर को रद्द करवाने के लिए बॉम्बे हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी. लेकिन अदालत ने ऐसा करने से इनकार कर दिया. हालांकि हाई कोर्ट ने गौतम नवलखा को तीन हफ्ते तक गिरफ्तारी से राहत दे दी थी जो आज खत्म हो रही थी. इसके बाद गौतम नवलखा सुप्रीम कोर्ट पहुंचे थे

रिजर्व बैंक ने लगातार पांचवीं बार रेपो रेट घटाया

सुस्त पड़ती अर्थव्यवस्था को गति देने के लिये भारतीय रिजर्व बैंक की छह सदस्यीय मौद्रिक नीति समिति ने रेपो रेट में 25 बेसिस पांइट्स की कटौती कर दी है. इसके बाद रेपो रेट 5.15 प्रतिशत रह गया है. ये लगातार पांचवां मौका है जब रेपो रेट में कटौती की गयी है. अगस्त में हुई एमपीसी की पिछली बैठक में इसमें 35 बेसिस पाइंट्स की कटौती की गई थी. इस तरह इस साल अभी तक आरबीआई ने रेपो रेट में कुल 1.35 फीसदी की कमी कर दी है. केंद्रीय बैंक ने चालू वित्त वर्ष में जीडीपी वृद्धि दर के अनुमान को 6.9 से घटाकर 6.1 फीसदी कर दिया है. रेपो रेट में इस कटौती के बाद बैंकों पर कर्ज और सस्ता करने का दबाव बढ़ गया है. माना जा रहा है कि इसके चलते आने वाले दिनों में होम, कार और पर्सनल लोन पर ब्याज दर कम हो सकती है.

पाकिस्तानी संसद ने गैर मुस्लिमों को प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति बनने की अनुमति देने वाला विधेयक रोका

पाकिस्तान की संसद ने उस विधेयक को फिलहाल रोक दिया है जिसमें संविधान संशोधन के जरिये गैर मुस्लिमों को प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति बनने की अनुमति देने का प्रावधान था. पाकिस्तान पीपल्स पार्टी के ईसाई सांसद डॉ नवीद आमिर जीवा ये विधेयक पेश करना चाहते थे. वे चाहते थे कि संविधान संशोधन के जरिये गैर मुस्लिमों को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति बनने की अनुमति प्रदान की जाए. लेकिन संसदीय मामलों के राज्यमंत्री अली मुहम्मद ने इसका विरोध किया. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान एक इस्लामिक गणराज्य है जहां केवल एक मुस्लिम ही प्रधानमंत्री या राष्ट्रपति बन सकता है.