अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए रिजर्व बैंक ने कल रेपो रेट में फिर कटौती कर दी. 25 बेसिस पाइंट्स की इस कटौती के साथ रेपो रेट 5.15 फीसदी पर आ गया है जो दस साल में इसका न्यूनतम स्तर है. साथ ही केंद्रीय बैंक ने विकास दर के अनुमान को भी 6.9 से घटाकर 6.1 फीसदी कर दिया है. इस खबर को आज के सभी अखबारों ने पहले पन्ने पर जगह दी है. इसके अलावा वायु सेना प्रमुख आरके भदौरिया का वह बयान भी कई अखबारों की प्रमुख सुर्खियों में शामिल है जिसमें उन्होंने कश्मीर में वायु सेना का हेलिकॉप्टर क्रैश होने की वजह भारतीय मिसाइल को ही बताया है. उन्होंने इसे बड़ी गलती बताया. यह हादसा 27 फरवरी को हुआ था जब बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद भारत और पाकिस्तान हवाई टकराव में उलझे थे.

अगले सत्र से सभी मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश के लिए एक परीक्षा

अगले शैक्षणिक सत्र से अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) और जिपमेर (जवाहरलाल इंस्टीट्यूट ऑफ पोस्ट-ग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च) समेत देश के सभी मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस में प्रवेश के लिए एक ही परीक्षा होगी. दैनिक जागरण के मुताबिक इसके लिए राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (एनईईटी) का आयोजन किया जाएगा. अभी तक एम्स और जिपमेर में दाखिले के लिए अलग प्रवेश परीक्षा होती थी. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने शुक्रवार को यह घोषणा की. उनके अनुसार, मानसून सत्र में पारित राष्ट्रीय आयुर्विज्ञान आयोग का गठन तय समय से पहले करने की कोशिश की जा रही है और अगले सत्र यानी 2020-21 से यह देश में मेडिकल शिक्षा की निगरानी व नियमन की बागडोर संभाल लेगा.

पीएमसी बैंक घोटाला : पूर्व सीएमडी को गिरफ्तार किया गया

पंजाब और महाराष्ट्र कोऑपरेटिव (पीएमसी) बैंक जालसाजी मामले में बैंक के पूर्व प्रबंध निदेशक जॉय थॉमस को मुंबई पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) ने गिरफ्तार कर लिया है. द टाइम्स ऑफ इंडिया ईओडब्ल्यू ने शुक्रवार को थॉमस को पूछताछ के लिए बुलाया था जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया. कल ही प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने इस सिलसिले में मुंबई और आसपास के छह स्थानों पर छापेमारी की. वहीं, एक स्थानीय अदालत ने ‘हाउसिंग डेवलपमेंट इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड’ (एचडीआइएल) के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक राकेश वाधवान और उसके बेटे सारंग को नौ अक्टूबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया है. जांच के दौरान अब तक इनकी 3500 करोड़ की संपत्ति जब्त की है.

पंजाब में ड्रोन से हथियार गिराने का मामला : एनआईए ने जांच अपने हाथ में ली

पंजाब में कई जगहों पर ड्रोन से हथियार और ड्रग्स गिराने के मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने जांच अपने हाथ में ले ली है. द ट्रिब्यून के मुताबिक राज्य के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने इसका अनुरोध किया था जिसके बाद गृह मंत्रालय ने एनआईए को यह निर्देश दिया. बताया जा रहा है कि यह इस तरह का पहला मामला है. यानी यह पहली बार है जब ड्रोनों का इस्तेमाल कर राज्य में हथियारों की खेप गिराई गई हो. बताया जा रहा है कि ये ड्रोन पाकिस्तान से आए थे और यह खेप खालिस्तानी अलगाववादियों के लिए थी.

जस्टिस अखिल कुरैशी की नियुक्ति पर सस्पेंस बरकरार

केंद्र सरकार ने सात हाई कोर्टों के लिए मुख्य न्यायाधीश की नियुक्ति को हरी झंडी दे दी है. लेकिन जस्टिस अखिल कुरैशी के मामले में सस्पेंस जारी है. द टेलीग्राफ के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने जस्टिस अखिल कुरैशी का नाम मध्य प्रदेश के मुख्य न्यायाधीश के लिए भेजा था. लेकिन केंद्र ने इस पर आपत्ति जताई. इसके बाद कॉलेजियम ने उनका नाम त्रिपुरा हाई कोर्ट के लिए भेजा. लेकिन केंद्र सरकार ने इस पर कोई फैसला नहीं लिया है. जस्टिस अखिल कुरैशी वही न्यायाधीश हैं जिन्होंने फर्जी एनकाउंटर के एक मामले में मौजूदा गृहमंत्री अमित शाह को 2010 में पुलिस हिरासत में भेजा था.