तीन तलाक पर बने नए कानून के तहत तमिलनाडु में पहली एफआईआर दर्ज की गई है. तमिलनाडु पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि एक व्यक्ति के खिलाफ उसकी पत्नी की शिकायत के आधार पर मुस्लिम महिला (विवाह अधिकार संरक्षण) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है.

शेख अब्दुल्ला के खिलाफ उसकी पत्नी रिजवाना की शिकायत पर पुडुकोट्टाई महिला थाने में प्राथमिकी दर्ज की गयी है. पुलिस के अनुसार शेख अब्दुल्ला पर उत्पीड़न जैसे अपराध को लेकर भी मामला दर्ज किया गया है. उसके पिता, मां, भाई समेत रिश्तेदारों पर भी उत्पीड़न समेत विभिन्न अपराधों को लेकर मामला दर्ज किया गया है. पुलिस ने बताया कि महिला ने शिकायत की कि ससुराल वाले लगातार उसका उत्पीड़न कर रहे थे और उसके पति ने उसे तीन बार तलाक बोलकर तलाक दे दिया.

हाल ही में केंद्र सरकार ने तीन तलाक को अवैध घोषित कर इसे आपराधिक कृत्य बना दिया है. जिसके तहत एक ही बार में तीन तलाक बोलकर तलाक देने वाले को तीन साल तक की कैद हो सकती है.