मुंबई पुलिस ने आरे कॉलोनी में पेड़ों की कटाई को लेकर हुए प्रदर्शनों के बीच शनिवार सुबह पूरी कॉलोनी और उसके आसपास के इलाकों में धारा 144 लागू कर दी है. पर्यावरण कार्यकर्ताओं का दावा है कि इस बीच आरे कॉलोनी के 200 से अधिक पेड़ काटे जा चुके हैं. पेड़ काटने का विरोध कर रहे 29 लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है.

मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए आरे कॉलोनी के पेड़ों के काटे जाने का पर्यावरण संगठन विरोध कर रहे हैं. इस संबंध में बंबई उच्च न्यायालय में कई याचिकायें दायर की गईं थीं. लेकिन, बंबई उच्च न्यायालय ने उत्तरी मुंबई में हरित क्षेत्र आरे कॉलोनी में मेट्रो की पार्किंग बनाने के लिये पेड़ों की कटाई का विरोध करने वाले पर्यावरण कार्यकर्ताओं की याचिकाएं खारिज कर दी थीं. जिसके बाद मुंबई मेट्रो रेल निगम लिमिटेड ने शुक्रवार देर रात पेड़ों की कटाई शुरू कर दी है. पेड़ों की कटाई शुरु होने के बाद पर्यावरण कार्यकर्ता वहां पहुंचकर प्रदर्शन कर रहे थे. जिसके बाद प्रशासन ने वहां धारा 144 लागू कर दी है.

एक पर्यावरण कार्यकर्ता ने बताया, ‘इलाके में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है. किसी को भी आरे कॉलोनी में प्रवेश की अनुमति नहीं है.’ पर्यावरण कार्यकर्ताओं का कहना है कि अब तक लगभग 200 पेड़ काटे जा चुके हैं. पर्यावरण कार्यकर्ता स्टालिन डी ने कहा, ‘एनजीटी दस अक्टूबर को इस मामले में सुनवाई करेगा और हमें वहां से कुछ राहत मिलने की उम्मीद है. लेकिन ऐसा लगता है कि अधिकारी सुनवाई से पहले ही पेड़ों की कटाई का काम खत्म करना चाहते हैं.’

मेट्रो के लिए आरे कॉलोनी के पेड़ काटे जाने का मामला राष्ट्रीय स्तर पर चर्चित हो चुका है. सुपर स्टार अमिताभ बच्चन ने मेट्रो प्रोजेक्ट का समर्थन करते हुए आरे कॉलोनी के पेड़ काटने का समर्थन किया था. इसको लेकर सोशल मीडिया पर अमिताभ की काफी आलोचना हुई थी.