रोहित शर्मा शनिवार को दुनिया के पहले ऐसे बल्लेबाज बन गये जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में सलामी बल्लेबाज के रूप में अपने पहले ही मैच की दोनों पारियों में शतक लगाये. उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के दौरान यह उपलब्धि हासिल की. रोहित इससे पहले टेस्ट मैच खेल चुके हैं, लेकिन बतौर टेस्ट ओपनर यह उनका पहला मैच था.

रोहित ने सलामी बल्लेबाज के रूप में पहली पारी में 176 रन बनाये और उसके बाद दूसरी पारी में चौथे दिन 127 रन की पारी खेली. इसके अलावा इस 32 वर्षीय बल्लेबाज ने 13 छक्केे लगाकर किसी एक टेस्ट मैच में सर्वाधिक छक्के लगाने का नया रिकार्ड भी बनाया. इससे पहले का रिकार्ड पाकिस्तान के वसीम अकरम के नाम पर था, जिन्होंने 1996 में जिम्बाब्वे के खिलाफ 12 छक्के लगाये थे. रोहित ने पहली पारी में छह और दूसरी पारी में सात छक्के लगाये. यही नहीं रोहित दोनों पारियों में स्टंप आउट हुए. वह मैच की दोनों पारियों में इस तरह से आउट होने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज हैं.

रोहित और उनके साथी सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल (215 और 7) ने मिलकर मैच में 525 रन बनाये. यह पहला अवसर है जबकि भारतीय सलामी जोड़ी ने एक मैच में 500 से अधिक रन बनाये. टेस्ट क्रिकेट में ऐसा सिर्फ तीन बार हुआ है. रोहित टेस्ट मैच की दोनों पारियों में शतक जड़ने वाले छठे भारतीय बल्लेबाज बन गये हैं. उनसे पहले विजय हजारे, सुनील गावस्कर (तीन बार), राहुल द्रविड़ (दो बार), विराट कोहली और अजिंक्य रहाणे यह उपलब्धि हासिल कर चुके हैं.

रोहित शर्मा की शानदार बल्लेबाजी के चलते भारत ने पहले टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका को जीत के लिए 395 रन का लक्ष्य दिया है. दक्षिण अफ्रीका ने एक विकेट खोकर 11 रन बना लिए हैं. कल खेल का अंतिम दिन है और परिस्थितियों को देखते हुए भारत का पलड़ा भारी लग रहा है.