कतर के दोहा में विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप के आखिरी दिन भी अमेरिका ने अपना दबदबा बरकरार रखते हुए तीन स्वर्ण पदक अपनी झोली में डाले. फर्राटा धाविका निया अली ने 100 मीटर बाधा दौड़ का खिताब अपने नाम किया. उन्होंने खलीफा स्टेडियम में 12.34 सेकेंड का समय निकालकर विश्व रिकार्डधारक केनी हैरिसन को पीछे छोड़ा. दो बच्चों की मां 30 वर्षीय निया अली ने कहा, ‘मैंने बच्चों के जन्म के बाद कड़ी मेहनत की थी. इन महिलाओं (प्रतिद्वंद्वियों) ने प्रतिस्पर्धा का स्तर बढ़ा दिया था, इसलिए मैं जानती थी कि मुझे क्या करना है.’

अमेरिका इस चैंपियनशिप में कुल 14 स्वर्ण, 11 रजत और चार कांस्य पदक लेकर शीर्ष पर रहा. आखिरी दिन उसने दो अन्य स्वर्ण पदक महिला और पुरुष दोनों वर्गों की चार गुणा 400 मीटर रिले दौड़ में जीते. कीनिया दूसरे स्थान पर रहा. उसने पांच स्वर्ण, दो रजत और चार कांस्य पदक हासिल किये. जमैका तीन स्वर्ण, पांच रजत और चार कांस्य पदक लेकर तीसरे स्थान पर रहा. चीन ने तीन स्वर्ण सहित नौ पदक जीते और उसे चौथा स्थान मिला. इसके साथ ही मध्यपूर्व में पहली बार आयोजित की गयी यह चैंपियनशिप भी समाप्त हो गई.

सुमित नागल करियर की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग पर पहुंचे

भारतीय टेनिस खिलाड़ी सुमित नागल सोमवार को जारी विश्व रैंकिंग में छह पायदान चढ़कर 129वें स्थान पर पहुंच गये जो उनके करियर की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग है. 22 साल का यह खिलाड़ी अभी शानदार फार्म में चल रहा है. सुमित नागल को पिछले सप्ताह ब्राजील में एटीपी चैलेंजर कैम्पिनास के सेमीफाइनल में पहुंचने का फायदा मिला है. इससे पहले अर्जेंटीना के ब्यूनसआयर्स में एटीपी चैलेंजर क्ले टूर्नामेंट का खिताब जीतने के बाद वे 26 पायदान की लंबी छलांग लगाकर 135वें स्थान पर पहुंचे थे. हरियाणा का यह युवा खिलाड़ी यूएस ओपन में के पहले दौर में रोजर फेडरर को कड़ी टक्कर देने के कारण चर्चा में आया था. भारत के अन्य खिलाड़ियों की रैकिंग में भी सुधार हुआ है. प्रजनेश गुणेश्वरन दो पायदान ऊपर 82वें और रामकुमार रामनाथन एक पायदान ऊपर 182वें स्थान पर पहुंच गए हैं.

क्रिस सिल्वरवुड इंग्लैंड के नए कोच

इंग्लैंड ने क्रिस सिल्वरवुड को अपना नया मुख्य क्रिकेट कोच नियुक्त किया है. वे ट्रेवर बेलिस की जगह लेंगे जिनका अनुबंध पिछले महीने खत्म हो गया था. भारत और दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कोच गैरी कर्स्टन और सरे के क्रिकेट निदेशक एलेक स्टीवर्ट आस्ट्रेलिया के ट्रेवर बेलिस की जगह लेने के दावेदार थे. लेकिन इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड के तीन सदस्यीय पैनल ने क्रिस सिल्वरवुड पर भरोसा जताया जिन्हें उसने ‘असाधारण उम्मीदवार’ करार दिया है.