वाहन बनाने वाली देश की प्रमुख कंपनी टाटा मोटर्स ने इस साल के पहले नौ महीनों में अपनी लखटकिया कार नैनो की एक भी इकाई का उत्पादन नहीं किया है. जहां तक बिक्री का सवाल है तो देश में सबसे कम कीमत वाली इस कार की कंपनी ने इस साल अब तक सिर्फ एक इकाई की बिक्री की है और वह भी फरवरी में. पीटीआई के मुताबिक कंपनी ने शेयर बाजारों को यह जानकारी दी है.

टाटा मोटर्स ने 2008 के ऑटो एक्सपो में नैनो को पेश किया था. बाजार में यह मार्च 2009 में आई. उस समय इसके शुरुआती मॉडल की कीमत एक लाख रुपये थी. यही वजह है कि इसे आम आदमी की कार के रूप में पेश किया गया था. लेकिन यह कार टाटा मोटर्स की उम्मीदों को पूरा नहीं कर सकी. इसकी बिक्री लगातार घटती रही. पिछले साल जनवरी-सितंबर के दौरान टाटा मोटर्स ने घरेलू बाजार में नैनो की 297 इकाइयों का उत्पादन किया जबकि 299 कारें बेचीं.

हालांकि टाटा मोटर्स ने आधिकारिक रूप से नैनो को बंद करने के बारे में कोई घोषणा नहीं की है. कंपनी अब तक यही कहती रही है कि नैनो के भविष्य को लेकर कोई फैसला नहीं किया गया है. हालांकि टाटा मोटर्स ने यह माना है कि नैनो का मौजूदा रूप नये सुरक्षा नियमों और भारत चरण-6 उत्सर्जन मानकों को पूरा नहीं कर पाएगा. नैनो का उत्पादन बंद करने के मुद्दे पर टाटा मोटर्स का कहना है कि जब भी इस प्रकार का निर्णय किया जाएगा तो इसकी घोषणा की जाएगी. माना जा रहा है कि ऐसा 2020 में हो सकता है.