‘एक षडयंत्र चल रहा है. हमारे संविधान में ऐसा कोई शब्द नहीं है. आज भी नहीं है.’  

— मोहन भागवत, आरएसएस प्रमुख

मॉब लिंचिंग को लेकर आरएसएस प्रमुख ने यह बात विजयादशमी के मौके पर नागपुर में अपने वार्षिक संबोधन में कही. उन्होंने कहा कि यह पश्चिम से आयातित एक शब्द है जिसकी आड़ में देश को बदनाम किया जा रहा है. मोहन भागवत का यह भी कहना था कि राष्ट्र के वैभव और शांति के लिये काम कर रहे सभी भारतीय हिंदू हैं. इससे पहले संघ प्रमुख ने शस्त्र पूजा भी की.

‘अकेले सरकार देश को अगले स्तर तक नहीं ले जा सकती. इसके लिए सभी पक्षकारों की बराबर भागीदारी की जरूरत है.’  

— शिव नाडर, एचसीएल के संस्थापक

शिव नाडर ने यह बात नागपुर में रेशमीबाग मैदान में राष्ट्रीय स्वयं सेवक (संघ) के विजयदशमी कार्यक्रम में कही. उनका कहना था कि देश के सामने कई चुनौतियां हैं, जिनसे निपटने के लिए निजी क्षेत्र, नागरिकों और गैर सरकारी संगठनों को भी योगदान देना होगा. शिव नाडर के अलावा, रतन टाटा, राहुल बजाज और अजीम प्रेमजी जैसे उद्योगपति भी संघ मुख्यालय पहुंचे थे.


‘आतंकवादी हमलों से निपटने के सरकार के तरीके में बड़ा बदलाव आया है.’

— आरकेएस भदौरिया, वायु सेना प्रमुख

आरकेएस भदौरिया ने यह बात आज वायु सेना दिवस के मौके पर गाजियबाद के हिंडन एयरबेस पर आयोजित एक कार्यक्रम में कही. उनका कहना था कि ऑपरेशन बालाकोट आतंकवाद के खिलाफ मौजूदा राजनीतिक नेतृत्व के संकल्प को दिखाता है. इस साल फरवरी में पुलवामा हमले के बाद भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में चलने वाले आतंकियों के एक ट्रेनिंग कैंप को निशाना बनाया था. इस हमले में बड़ी संख्या में आतंकी मारे गए थे.


‘महाभियोग की जांच धोखाधड़ी है. यूक्रेन के राष्ट्रपति व्लादिमीर जेलेंस्की के साथ मेरी बहुत अच्छी बातचीत हुई थी.’  

— डोनाल्ड ट्रंप, अमेरिकी राष्ट्रपति

डोनाल्ड ट्रंप ने यह बात व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से कही. बीते दिनों अमेरिका के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में अमेरिकी राष्ट्रपति के खिलाफ महाभियोग की प्रक्रिया शुरू हुई. आरोप है कि बीते जुलाई में डोनाल्ड ट्रंप ने यूक्रेन के राष्ट्रपति से फोन पर हुई बातचीत में डेमोक्रेटिक पार्टी से अपने प्रतिद्वंद्वी जो बाइडेन के खिलाफ जांच करने को कहा था.