पोलैंड में द्वितीय विश्व युद्ध के समय का एक बम फटने से दो सैनिकों की मौत हो गई और चार लोग घायल हो गए. पीटीआई के मुताबिक पोलैंड के रक्षा मंत्री मारियूज बलास्कजैक ने यह जानकारी दी. यह बम देश के कुजनिया रकिबोरस्का नाम के एक शहर के पास फटा. सेना ने बताया कि घायलों में से दो की हालत गंभीर है. ये सैनिक क्षेत्र में तैनात ‘पैराशूट रेजिमेंट’ का हिस्सा थे. पुलिस के अनुसार इनको जंगल में कुछ दिनों पहले मिले पुराने तोप के गोलों को निष्क्रिय करने का काम सौंपा गया था. द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान जर्मनी ने पोलैंड पर हमला किया था. उस समय के बम आज भी यहां मिलते रहते हैं.

वैसे यह सिर्फ पोलैंड में नहीं होता बल्कि पूरे यूरोप में ऐसी घटनाएं सुर्खियां बनती रहती हैं. पिछले महीने जर्मनी के हनोवर शहर में तब सनसनी फैल गई थी जब वहां दूसरे विश्व युद्ध में गिरा एक जिंदा बम बरामद किया गया. इसके बाद 15 हजार लोगों को अपना घर छोड़ना पड़ा और उन्हें सुरक्षित जगह पर पहुंचाया गया. दूसरे विश्व युद्ध के दौरान गिराया गया यह करीब 250 किलो वजनी बम फटा नहीं था. पांच लाख की आबादी वाले हनोवर सहित जर्मनी के कई शहरों को दूसरे विश्व युद्ध के दौरान मित्र राष्ट्रों ने निशाना बनाया था.

इसी जून में जर्मनी की राजधानी बर्लिन में एक ऐसे ही बम को निष्क्रिय किया गया था. इससे दो साल पहले फ्रैंकफर्ट में 1.4 टन का एक बम बरामद हुआ था. यह ब्रिटेन ने गिराया था. इसके चलते करीब 65 हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाना पड़ा था. 1945 के बाद इस वजह से घर छोड़ने वालों की यह सबसे बड़ी संख्या थी. माना जाता है कि दूसरे विश्व युद्ध के दौरान जर्मनी पर जो लाखों बम गिराए गए थे उनमें से 10 फीसदी फटे ही नहीं थे. यही बम आज तक लोगों को परेशान किए हुए हैं.