अगर एक भारतीय जवान भी शहीद हुआ तो 10 दुश्मनों को मौत के घाट उतार दिया जाएगा.’  

— अमित शाह, गृह मंत्री

अमित शाह ने यह बात महाराष्ट्र के सांगली जिले में एक चुनावी रैली में कही. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में राष्ट्रीय सुरक्षा मजबूत हुई है और अब पूरी दुनिया जानती है कि एक जवान शहीद होगा तो 10 दुश्मन मारे जाएंगे. अमित शाह का इशारा पुलवामा में सीआरपीएफ पर हुए आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान के बालाकोट में वायुसेना की कार्रवाई की तरफ था.

‘हम हर उस क्षेत्र को मदद दे रहे हैं, जिसे इसकी जरूरत है.’  

— निर्मला सीतारमण, केंद्रीय वित्त मंत्री

वित्त मंत्री ने यह बात एक संवाददाता सम्मेलन में कही. निर्मला सीतारमण ने कहा कि आर्थिक नरमी को दूर करने के लिये सरकार विभिन्न क्षेत्रों के लिये अलग-अलग विशेष उपाय कर रही है. हालांकि उन्होंने इस सवाल का जवाब नहीं दिया कि क्या सरकार भी देश में आर्थिक नरमी की बात स्वीकार करती है. देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर अप्रैल-जून तिमाही में कम होकर छह साल के सबसे निचले स्तर (पांच प्रतिशत) पर आ गई है.


‘उप्र में राम राज नहीं नाथूराम राज है.’  

— अखिलेश यादव, सपा अध्यक्ष

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने यह टिप्पणी कानून और व्यवस्था को लेकर राज्य की भाजपा सरकार पर तंज कसते हुए की है. उन्होंने झांसी में पिछले दिनों हुई कथित पुलिस मुठभेड़ में मारे गये पुष्पेन्द्र यादव नामक व्यक्ति की मौत की उच्च न्यायालय के किसी सेवारत न्यायाधीश से जांच की मांग दोहराई. अखिलेश यादव ने आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश में ‘मॉब लिंचिंग’ के साथ-साथ अब ‘पुलिस लिंचिंग’ भी होने लगी है.


‘कुर्दों ने द्वितीय विश्व युद्ध में हमारी मदद नहीं की थी.’  

— डोनाल्ड ट्रंप, अमेरिकी राष्ट्रपति

इस बयान के जरिये डोनाल्ड ट्रंप ने सीरिया से अमेरिकी सैनिकों को वापस बुलाने और आईएस के खिलाफ अपने सहयोगी कुर्दों को मंझधार में छोड़ने के फैसले का बचाव किया है. इस फैसले से तुर्की को यहां हमला करने के लिए सैन्य अभियान शुरू करने का रास्ता मिल गया है. अभी तक अमेरिका इस इलाके में कुर्दों के साथ मिलकर आईएस से लड़ रहा था जिस वजह से उनकों आतंकवादी मानने वाला तुर्की उनके खिलाफ मोर्चा नहीं खोल सका था.