पाकिस्तान ने कहा है कि करतारपुर गलियारे के उद्घाटन के लिए अभी कोई तारीख तय नहीं की गई है. हालांकि, उसने आश्वासन दिया है कि सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व पर इसे अगले महीने शुरू कर दिया जाएगा.

पीटीआई के मुताबिक गुरूवार को पाकिस्तान विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने साप्ताहिक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘प्रधानमंत्री इमरान खान के वादे के मुताबिक करतारपुर कॉरिडोर पर काम समय पर पूरा हो जाएगा. इसका उद्घाटन समय पर होगा, लेकिन इसके शुरू होने के लिए मैं कोई तिथि नहीं दे सकता क्योंकि अभी तक इसकी तिथि तय नहीं की गई है.’ उन्होंने आश्वासन दिया कि गलियारे को सिखों के संस्थापक गुरू नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व पर 12 नवम्बर को खोल दिया जाएगा.

बीते महीने गलियारे को लेकर एक वरिष्ठ पाकिस्तानी अधिकारी ने घोषणा की थी कि करतारपुर साहिब के लिए पाकिस्तान नौ नवम्बर से भारतीय सिख श्रद्धालुओं को जाने की अनुमति देगा.

दोनों देशों के बीच बन रहा यह गलियारा पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारा करतारपुर साहिब और भारत के गुरदासपुर में डेरा बाबा नानक साहिब को जोड़ेगा. करतारपुर साहिब गुरुद्वारा की स्थापना सिखों के संस्थापक गुरु गुरुनानक देव जी ने 1522 में की थी. पाकिस्तान करतारपुर में गुरुद्वारा दरबार साहिब के लिए भारतीय सीमा तक गलियारे का निर्माण कर रहा है, जबकि पंजाब के गुरदासपुर जिले में डेरा बाबा नानक से दूसरे हिस्से तक का निर्माण भारत द्वारा किया जाएगा.

दोनों देश इस बात पर सहमत हुए हैं कि पाकिस्तान गलियारे के जरिये प्रतिदिन पांच हजार श्रद्धालुओं को अपने यहां आने की अनुमति देगा. यह भारत-पाकिस्तान के बीच 1947 के बाद से अब तक का पहला वीजा मुक्त गलियारा होगा. गलियारा बनने के बाद भारतीय श्रद्धालुओं को सिर्फ परमिट हासिल कर आवाजाही की सुविधा मिलेगी.