आयकर विभाग ने कर्नाटक के पूर्व उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर और कुछ अन्य लोगों के खिलाफ मारे गए छापों के दौरान करीब पांच करोड़ रुपये नकद बरामद किए हैं. पीटीआई के मुताबिक अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया कि बृहस्पतिवार से शुरू की गई छापामारी करीब 25 स्थानों पर अब भी जारी है. इस छापामारी के तहत आयकर विभाग के 300 से ज्यादा अधिकारी कर्नाटक में कांग्रेस के दो प्रमुख नेताओं से जुड़े परिसरों में दाखिल हुए. इन नेताओं में पूर्व उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर के अलावा पूर्व सांसद आरएल जालप्पा के बेटे जे राजेंद्र शामिल हैं.

अधिकारियों ने कहा है कि यह छापामारी नीट परीक्षाओं से जुड़े कई करोड़ रुपए के कर चोरी मामले के संबंध में की जा रही है. विभाग के सूत्रों ने बताया कि जी परमेश्वर से जुड़े कार्यालय, आवास और संस्थानों पर छापे मारने के अलावा आयकर अधिकारियों ने उनके भाई जी शिवप्रसाद और निजी सहायक रमेश के घर की भी तलाशी ली. जी परमेश्वर का परिवार सिद्धार्थ ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन्स चलाता है. वहीं राजेंद्र डोडाबल्लापुरा और कोलार में आरएल जलप्पा इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी चलाते हैं.

इससे पहले कर्नाटक कांग्रेस के वरिष्ठ नेता डीके शिवकुमार के खिलाफ ईडी ने कार्रवाई की थी. उन्हें मनी लॉन्डरिंग के एक मामले में गिरफ्तार किया गया है. फिलहाल वे दिल्ली की तिहाड़ जेल में हैं.