ऑटोमोबाइल क्षेत्र में सुस्ती जारी है. घरेलू बाजार में यात्री वाहनों की बिक्री सितंबर महीने में 23.69 प्रतिशत गिरकर 2,23,317 इकाइयों पर आ गयी. पिछले साल इसी महीने 2,92,660 यात्री वाहनों की बिक्री हुई थी. भारतीय वाहन निर्माताओं के संगठन सियाम ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी. यह लगातार ग्यारहवां महीना है जब वाहनों की बिक्री में गिरावट आयी है.

सियाम के आंकड़ों के अनुसार कारों की घरेलू बिक्री सितंबर 2018 की 1,97,124 इकाइयों की तुलना में बीते महीने 33.40 प्रतिशत गिरकर 1,31,281 इकाइयों पर आ गई. इस दौरान मोटरसाइकिलों की बिक्री भी गिरी. यह पिछले साल की 13,60,415 इकाइयों की तुलना में 23.29 प्रतिशत कम होकर 10,43,624 इकाइयों पर आ गई. सितंबर के दौरान दोपहिया वाहनों की कुल बिक्री 22.09 प्रतिशत गिरकर 16,56,774 इकाइयों पर आ गई. सियाम ने कहा कि इस दौरान व्यावसायिक वाहनों की बिक्री भी 39.06 प्रतिशत कम हो गई. सिर्फ यूटिलिटी व्हीकल श्रेणी को अपवाद कहा जा सकता है जहां बिक्री में सितंबर के दौरान साढ़े पांच फीसदी की बढ़त दर्ज हुई.

बीते दिनों खबर आई थी कि ऑटोमोबाइल क्षेत्र में जारी मंदी अब तक साढ़े तीन लाख से भी ज्यादा लोगों की नौकरी छीन चुकी है. कुछ समय पहले केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के साथ मुलाकात में वाहन निर्माता कंपनियों ने अनुरोध किया था कि सरकार इस क्षेत्र के लिए कुछ प्रोत्साहन उपायों का ऐलान करे.