प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से महाबलिपुरम में हुई उनकी मुलाकात ने दोनों देशों के के संबंधों में एक नए अध्याय की शुरुआत की है. दोनों राष्ट्राध्यक्षों की अनौपचारिक शिखर वार्ता का आज दूसरा दिन था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मुताबिक वुहान में बीते साल हुई पहली शिखर वार्ता ने आपसी रिश्तों को एक नई गति और विश्वास दिया था और यह प्रक्रिया अब और आगे बढ़ी है.

दोनों नेताओं ने आज एक प्रतिनिधिमंडल के साथ एक-दूसरे से मुलाकात की. इस दौरान शी जिनपिंग ने शानदार मेहमाननवाजी के लिए नरेंद्र मोदी का शुक्रिया अदा किया. उन्होंने कहा, ‘हम आपकी मेहमानवाजी से अभिभूत हैं. मैं ही नहीं मेरे सहयोगी भी. यह मेरे लिए एक यादगार अनुभव रहेगा.’

इससे पहले शुक्रवार को दोनों नेताओं ने तमाम मुद्दों पर चर्चा की. इस दौरान व्यापार और निवेश के लिए एक नई व्यवस्था बनाने पर भी सहमति बनी. शी जिनपिंग का कहना था, ‘हमने दोस्तों की तरह आपसी रिश्तों पर खुलकर और दिल से बात की.’ भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने बाद में कहा कि यह बातचीत काफी सार्थक रही. चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग आज दोपहर के भोजन के बाद नेपाल रवाना हो जाएंगे.