‘हमने मतभेदों को विवेकपूर्ण ढंग से सुलझाने और उन्हें विवाद का रूप नहीं लेने देने का निर्णय किया है.’  

— नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

नरेंद्र मोदी ने यह बात चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ पिछले दो दिन में कई सत्रों में हुई आमने-सामने की बातचीत के बाद कही. उन्होंने कहा कि इस बातचीत से दोनों देशों के रिश्तों में एक नया अध्याय शुरू हुआ है. प्रधानमंत्री का यह भी कहना था कि भारत और चीन पिछले 2,000 साल में ज्यादातर समय वैश्विक आर्थिक शक्तियां रहे हैं और धीरे-धीरे उस चरण की तरफ लौट रहे हैं.

‘आरटीआई आवेदन ज्यादा होना सरकार की सफलता को नहीं दर्शाता.’  

— अमित शाह, केंद्रीय गृहमंत्री

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने यह बात केंद्रीय सूचना आयोग (सीआईसी) के 14वें वार्षिक सम्मेलन में कही. उनका कहना था कि सरकार का उद्देश्य ज्यादा से ज्यादा सूचनाओं को सक्रियता से सार्वजनिक पटल पर रखना है ताकि आरटीआई आवेदन दायर करने की जरूरत को घटाया जा सके.


‘क्या अब देश में भाजपा के लिए एक और विपक्ष के लिए दूसरा निजाम है?’

— आनंद शर्मा, कांग्रेस नेता

आनंद शर्मा ने आरोप लगाया है कि नरेंद्र मोदी सरकार अर्थव्यवस्था के संकट को दूर करने के लिए कदम उठाने के बजाय राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ सरकारी एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है. उन्होंने यह बात कांग्रेस के एक अकॉउंटेंट के यहां आयकर विभाग की छापामारी की पृष्ठभूमि में कही. आनंद शर्मा ने आरोप लगाया कि सरकार प्रतिशोध की भावना से काम कर रही है.


‘मैं ऐसा करने वाला पहला इंसान हूं. मैं सभी को प्रेरित करना चाहता हूं.’  

— एलियड किपचोगे, मैराधन धावक

कीनिया के एलियुड किपचोगे ने यह बात दो घंटे से कम समय में मैराथन पूरी करके एक नया इतिहास रचने के बाद कही. ओलंपिक चैंपियन किपचोगे एक घंटे, 59 मिनट और 40.2 सेकंड में 42.195 किलोमीटर की मैराथन पूरी करने वाले दुनिया के पहले एथलीट बन गए. इससे पहले भी सबसे कम समय (दो घंटे, एक मिनट और 39 सेकंड) में मैराथन पूरी करने का रिकार्ड उनके ही नाम था जो उन्होंने 2018 में बर्लिन में बनाया था.