केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने देश में मंदी की बात से इन्कार करते हुए अजीबोगरीब तर्क दिया है. मुंबई में रविशंकर प्रसाद ने कहा कि जब देश में फिल्में एक-एक दिन में करोड़ों का कारोबार कर रही हैं तो फिर मंदी कहां है.

मुंबई में पत्रकारों से बातचीत करते हुए रविशंकर प्रसाद ने कहा, ‘मैं अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में सूचना प्रसारण मंत्री था, इसलिए फिल्मों के बारे में मुझे कुछ जानकारी है. अभी हाल ही में मुझे एक ट्रेड एनॉलिस्ट ने बताया कि दो अक्टूबर के राष्ट्रीय अवकाश के दिन तीन फिल्मों ने एक ही दिन में 120 करोड़ की कमाई की है. फिल्में एक दिन में 120 करोड़ कमा रही हैं तो फिर मंदी कहां है.’ उन्होंने कहा कि हमारी अर्थव्यवस्था का आधारभूत ढांचा मजबूत है और महंगाई दर नियंत्रण में हैं.

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने इस बात को भी गलत बताया कि देश में बेरोजगारी बढ़ रही है. हाल में आई नेशनल सैंपल सर्वे की रिपोर्ट को भी उन्होंने नकार दिया. उन्होंने कहा कि सरकार ने कई क्षेत्रों में रोजगार दिए हैं, जिन्हें इस रिपोर्ट में शामिल नहीं किया गया है. उन्होंने कहा कि देश में मोबाइल, मेट्रो और सड़कें बन रही हैं, जिससे लोगों को रोजगार मिल रहा है. केंद्रीय मंत्री ने यह दावा भी किया देश में इस समय एफडीआई अपने सर्वोच्च स्तर पर है.

केंद्रीय मंत्री भले ही देश में मंदी न होने की बात कर रहे हों, लेकिन आरबीआई समेत तमाम वैश्विक संस्थाओं ने देश की अर्थव्यवस्था में सुस्ती की बात मानी है. यहां तक की आरबीआई ने देश की आर्थिक विकास दर के अनुमान को घटाकर 6.9 से 6.1 फीसद कर दिया है.