टाटा मोटर्स ने भारत में अपनी सबकॉम्पैक सेडान टिगोर का इलेक्ट्रिक वर्जन लॉन्च कर दिया है. अब तक यह कार सिर्फ़ भारत सरकार और फ्लीट ग्राहकों को ही बेची जाती थी. लेकिन अब से इस कार को आम ग्राहकों के लिए भी उपलब्ध करा दिया गया है. गौरतलब है कि टाटा ने टिगोर ईवी को अपने नए पॉवरट्रेन ‘ज़िपट्रॉन’ से लैस नहीं किया है. टाटा ने टिगोर ईवी को तीन वेरिएंट- एक्सई प्लस, एक्सएम प्लस और एक्सटी प्लस में लॉन्च किया है. फिलहाल टिगोर ईवी को तीस प्रमुख शहरों में बेचा जाएगा. इस कार के बेस वेरिएंट यानी एक्सई प्लस के लिए 9 लाख 44 हजार रुपए, एक्सएम प्लस के लिए 9 लाख 60 हजार रुपए और एक्सटी प्लस के लिए 9 लाख 75 हजार रुपए कीमत तय की गई है.

टिगोर ईवी केबिन

टाटा ने टिगोर ईवी में पॉवर के लिए 21.5 केडब्ल्यूएच क्षमता की बैटरी जोड़ी है जिसकी मदद से यह कार एक चार्ज में 213 किलोमीटर तक की दूरी तय कर पाने में सक्षम है जो इसके मौजूदा मॉडल की तुलना में 71 किलोमीटर ज्यादा है. कंपनी ने अभी कार की पॉवर आउटपुट से जुड़ी जानकारी जारी नहीं की है. इलेक्ट्रिक टिगोर में दो ड्राइविंग मोड- इको और स्पोर्ट विकल्प के तौर पर दिए हैं. दिखने में यह कार टिगोर के सामान्य वर्ज़न जैसी ही नज़र आती है. टिगोर ईवी को तीन रंगों- पर्लसेंट व्हाइट, इजिप्शियन ब्लू और रोमन सिल्वर में तैयार किया गया है.

कार के फीचर्स की बात करें तो इसमें- फुली ऑटोमेटिक टेंपरेचर कंट्रोल, रिमोट एंट्री फोब और ड्राइवर इंफोर्मेशन सिस्टम दिया गया है जिसमें डिजिटल क्लॉक, गियर शिफ्ट डिस्प्ले, ट्रिप मीटर, ट्रिप एवरेज और फ्यूल एफिशिएंसी जैसी जानकारियां दिखाई देती हैं. सुरक्षा के लिहाज से कार में डुअल एयरबैग और एंटीलॉक ब्रेकिंग सिस्टम (एबीएस) सामान्य तौर पर दिए गए हैं. टाटा मोटर्स टिगोर ईवी के साथ 3 साल/ 1.25 लाख किलोमीटर की व्हीकल और बैटरी वारंटी दे रही है.

बेनेली की लिऑनचीनो 250 मोटरसाइकल लॉन्च

इटली की बाइक निर्माता कंपनी बेनेली ने भारत में निओ-रेट्रो स्टाइल वाली मोटरसाइकल लिऑनचीनो 250 लॉन्च कर दी है. इस बाइक को कंपनी ने लिऑनचीनो 500 से एक पायदान नीचे की रेंज में उतारा है. लिऑनचीनो 250 चार रंगों- व्हाइट, ग्रे, रैड और ब्राउन में लॉन्च की गई है. लुक्स के मामले में बेनेली की यह पेशकश लिऑनचीनो 500 से ही प्रेरित नज़र आती है जिसके फ्रंट मडगार्ड पर कंपनी का सिग्नेचर लेज़र-कट लायन लोगो लगा है.

स्टील ट्यूब ट्रेलिस फ्रेम पर बनी इस बाइक के साथ ब्लैक्ड आउट इंजन और रेडिएटर दिया गया है. इसके अलावा नई लिऑनचीनो में बड़े आकार के ब्लैक और सिल्वर मफलर के अलावा सिंगल-पीस सीट और फुल डिजिटल इंस्ट्रुमेंट कंसोल भी दिया गया है. सुरक्षा के लिए बेनेली ने अपनी इस बाइक को डुअल चैनल एबीएस से लैस किया है. परफॉर्मेंस के लिहाज से बेनेली ने लिऑनचीनो 250 में 249 सीसी का सिंगल-सिलेंडर, 4-स्ट्रोक और लिक्विड-कूल्ड इंजन लगाया है जो 25.4 बीएचपी पॉवर के साथ 21 एनएम का पीक टॉर्क पैदा करने में सक्षम है. लिऑनचीनो 250 के लिए बेनेली ने 2 लाख 50 हज़ार रुपए कीमत तय की है. यदि आप इस शानदार बाइक को घर लाना चाहते हैं तो आप 6,000 रुपए टोकन मनी देकर इसे डीलरशिप पर या ऑनलाइन बुक कर सकते हैं.

जावा का एनिवर्सरी एडिशन

विटेंज लुक वाली बाइकें बनाने के लिए मशहूर कंपनी जावा ने अपनी 90वीं सालगिरह पर भारत में नई बाइक एनिवर्सरी एडिशन लॉन्च की है. गौरतलब है कि जावा की पहली बाइक 500 ओएचवी 1929 में चेकॉस्लोवाकिया में तैयार की गई थी. दुनिया के कई देशों की तरह जावा की लोकप्रिय बाइक यज़दी ने भारतीय बाज़ार में भी शानदार प्रदर्शन किया. लेकिन 90 के दशक में हल्की बाइकों के आ जाने के बाद रॉयल एनफील्ड की ही तरह यज़दी की बिक्री भी बुरी तरह प्रभावित हुई थी और धीरे-धीरे यह बाइक चलन से ही बाहर हो गई. लेकिन करीब तीन साल पहले ‘महिंद्रा एंड महिंद्रा’ के मालिकाना हक़ वाली कंपनी ‘क्लासिक लेजेंड’ ने जावा के साथ साठ फीसदी की साझेदारी कर बीते साल कंपनी की बाइक्स को देश में फिर से लॉन्च किया.

जावा ने अपने एनिवर्सरी एडिशन को 500 ओएचवी की ही तरह डार्क रैड और क्रीम कलर कॉम्बिनेशन में तैयार किया है. खास बात यह है कि कंपनी ने इस बाइक की सिर्फ़ 90 यूनिट ही तैयार की हैं. परफॉर्मेंस के लिहाज से कंपनी ने जावा एनिवर्सरी एडिसन के साथ अपना मौजूदा इंजन ही इस्तेमाल किया है. बीएस-6 रेडी प्लेटफॉर्म पर बना 293 सीसी क्षमता का यह मिड-रेन्ज इंजन सिंगल-सिलेंडर होने के साथ लिक्विड-कूल्ड व डीओएचसी तकनीक से लैस है और 27 बीएचपी की अधिकतम पॉवर के साथ 28 एनएम का पीक टॉर्क पैदा करने में सक्षम है. इस इंजन के साथ 6-स्पीड गियरबॉक्स जोड़ा गया है. यदि आप जावा एनिवर्सरी एडिशन को घर लाना चाहते हैं तो आपको इस बाइक के लिए 1.73 लाख रुपए कीमत देनी होगी.

ऑटोमोबाइल क्षेत्र में सुस्ती जारी

ऑटोमोबाइल क्षेत्र में सुस्ती जारी है. घरेलू बाजार में यात्री वाहनों की बिक्री सितंबर महीने में 23.69 प्रतिशत गिरकर 2,23,317 इकाइयों पर आ गयी. पिछले साल इसी महीने 2,92,660 यात्री वाहनों की बिक्री हुई थी. भारतीय वाहन निर्माताओं के संगठन सियाम ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी. यह लगातार ग्यारहवां महीना है जब वाहनों की बिक्री में गिरावट आयी है.

सियाम के आंकड़ों के अनुसार कारों की घरेलू बिक्री सितंबर 2018 की 1,97,124 इकाइयों की तुलना में बीते महीने 33.40 प्रतिशत गिरकर 1,31,281 इकाइयों पर आ गई. इस दौरान मोटरसाइकिलों की बिक्री भी गिरी. यह पिछले साल की 13,60,415 इकाइयों की तुलना में 23.29 प्रतिशत कम होकर 10,43,624 इकाइयों पर आ गई. सितंबर के दौरान दोपहिया वाहनों की कुल बिक्री 22.09 प्रतिशत गिरकर 16,56,774 इकाइयों पर आ गई. सियाम ने कहा कि इस दौरान व्यावसायिक वाहनों की बिक्री भी 39.06 प्रतिशत कम हो गई. सिर्फ यूटिलिटी व्हीकल श्रेणी को अपवाद कहा जा सकता है जहां बिक्री में सितंबर के दौरान साढ़े पांच फीसदी की बढ़त दर्ज हुई.

बीते दिनों खबर आई थी कि ऑटोमोबाइल क्षेत्र में जारी मंदी अब तक साढ़े तीन लाख से भी ज्यादा लोगों की नौकरी छीन चुकी है. कुछ समय पहले केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के साथ मुलाकात में वाहन निर्माता कंपनियों ने अनुरोध किया था कि सरकार इस क्षेत्र के लिए कुछ प्रोत्साहन उपायों का ऐलान करे.