कोशिकाओं, ऑक्सीजन पर रिसर्च के लिए तीन वैज्ञानिकों को चिकित्सा का नोबेल पुरस्कार | रविवार, 06 अक्टूबर 2019

अमेरिकी वैज्ञानिकों विलियम कैलिन, ग्रेग सेमेंजा और ब्रिटेन के पीटर रैटक्लिफ को चिकित्सा क्षेत्र के नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया. मानव शरीर में कोशिकाएं ऑक्सीजन की उपलब्धता का आभास कैसे करती हैं और कैसे खुद को उसके अनुकूल बनाती हैं, इन वैज्ञानिकों ने इस विषय पर रिसर्च किया है. नोबेल ज्यूरी ने तीनों वैज्ञानिकों के नाम की घोषणा करते हुए कहा, ‘इन वैज्ञानिकों ने इस संबंध में हमारी समझ को आधार प्रदान किया कि ऑक्सीजन का स्तर कोशिकीय चयापचय (सेलुलर मेटाबोलिज्म) और शारीरिक क्रियाकलापों को किस तरह प्रभावित करता है. इनके इस रिसर्च से एनीमिया, कैंसर और अन्य कई बीमारियों से लड़ने की भरोसा पैदा करने वाली नयी रणनीतियों का रास्ता साफ हो गया है.’ (विस्तार से)

अफगानिस्तान : 11 आतंकियों की रिहाई के बाद तालिबान ने तीन भारतीय इंजीनियरों को छोड़ा | सोमवार, 07 अक्टूबर 2019

अफगान तालिबान ने तीन भारतीय इंजीनियरों को अपने 11 सदस्यों के बदले में रिहा किया. ‘एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ ने तालिबान के दो सदस्यों के हवाले से यह जानकारी दी. बंधकों की यह अदला-बदली रविवार को की गई. हालांकि इसको किस जगह अंजाम दिया गया इसकी जानकारी तालिबान ने नहीं दी. न ही उसने यह बताया कि बंदियों की अदला-बदली किसके साथ की गई और रिहा किए गए तालिबान के सदस्यों को अफगान अधिकारियों ने बंदी बनाया था या अमेरिकी सेना ने. भारतीय इंजीनियरों की रिहाई के बदले तालिबान के शेख अब्दुर रहीम और मावलवी अब्दुर रशीद को भी रिहा किया गया है. ये दोनों 2001 में अमेरिका के नेतृत्व वाली सेनाओं द्वारा हटाए जाने से पहले तालिबान प्रशासन के दौरान क्रमशः कुनार और निम्रोज़ प्रांत के गवर्नर के रूप में काम कर रहे थे. (विस्तार से)

अमेरिका ने चीन की 28 कंपनियों को काली सूची में डाला, अल्पसंख्यकों के साथ दुर्व्यवहार का आरोप | मंगलवार, 08 अक्टूबर 2019

अमेरिकी वाणिज्य मंत्रालय ने चीन की 28 कंपनियों को काली सूची में डाल दिया. पीटीआई के मुताबिक अमेरिका के वाणिज्य मंत्री विल्बर रॉस ने इस फैसले की घोषणा की. इससे ये कंपनियां अब अमेरिकी सामान नहीं खरीद पाएंगी. इन कंपनियों पर चीन के अशांत शिनजियांग क्षेत्र में उइगर मुसलमानों सहित अन्य अल्पसंख्यकों को निशाना बनाने और उनके साथ दुर्व्यवहार करने का आरोप है. अमेरिकी फेडरल रजिस्टर में अपडेट की गई जानकारी के अनुसार काली सूची में डाली गई कई कंपनियों में वीडियो निगरानी कंपनी ‘हिकविज़न’, कृत्रिम मेधा (एआई) कंपनियां ‘मेग्वी टेक्नोलॉजी’ और ‘सेंस टाइम’ शामिल हैं. विल्बर रॉस ने कहा कि अमेरिका अल्पसंख्यकों के क्रूर दमन को बर्दाश्त नहीं करता है और न ही करेगा.’ (विस्तार से)

संयुक्त राष्ट्र पर कड़की छाई | बुधवार, 09 अक्टूबर 2019

संयुक्त राष्ट्र पर तंगी छा गई है. इसके महासचिव एंटोनियो गुटेरेश ने कहा कि इस महीने के आखिर तक संस्था के पास रखा पैसा पूरी तरह खत्म हो जाने की आशंका है. संयुक्त राष्ट्र सचिवालय में काम करने वाले 37,000 कर्मचारियों को लिखे एक पत्र में उन्होंने कहा कि कर्मचारियों को वेतन और अन्य भत्ते देने के लिये खर्चों में कमी लाने को लेकर अतिरिक्त कदम उठाये जाएंगे. पीटीआई के मुताबिक इस चिट्ठी में एंटोनियो गुटेरेश ने लिखा, ‘सदस्य देशों ने 2019 के लिये जरूरी हमारे नियमित बजट का केवल 70 प्रतिशत ही भुगतान किया है. इसके कारण सितंबर में संस्था के पास 23 करोड़ डॉलर नकदी की कमी है. हमारे सामने इस माह के अंत तक नकदी भंडार के समाप्त होने का जोखिम है.’ (विस्तार से)

ओल्गा तोकार्चुक, पीटर हैंडके को साहित्य का नोबेल | गुरूवार, 10 अक्टूबर 2018

पोलैंड की लेखिका ओल्गा तोकार्चुक ने गुरुवार को वर्ष 2018 के लिये साहित्य का नोबेल पुरस्कार जीता. साथ ही ऑस्ट्रियाई उपन्यासकार और पटकथा लेखक पीटर हैंडके को 2019 के लिये यह पुरस्कार दिया गया. 2018 का साहित्य का नोबेल पुरस्कार यौन उत्पीड़न विवाद के चलते नहीं घोषित किया गया था. इसी कारण से 2018 और 2019 के साहित्य के नोबेल पुरस्कार एक साथ घोषित किए गए. पोलैंड की लेखिका ओल्गा तोकार्चुक को अपनी पीढ़ी की सबसे प्रतिभाशाली उपन्यासकार माना जाता है. स्वीडिश अकादमी के मुताबिक, उन्हें यह सम्मान, उस विमर्श की परिकल्पना के लिये दिया गया है जो जीवन के एक स्वरूप की हदें लांघने की विश्वव्यापी चाहत का प्रतिनिधित्व करती है. जबकि, साल 2019 के लिए साहित्य का नोबेल पुरस्कार के लिए ऑस्ट्रियाई लेखक पीटर हैंडके को चुना गया. (विस्तार से)

नरेंद्र मोदी कश्मीर मुद्दे पर अपना आखिरी कार्ड खेल चुके हैं : इमरान खान | शुक्रवार, 11 अक्टूबर 2019

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त कर अपना आखिरी कार्ड खेल चुके हैं. शुक्रवार को इस्लामाबाद में कश्मीर की जनता के साथ एकजुटता प्रदर्शित करने के लिए बनाई गयी मानव श्रृंखला में शामिल हुए लोगों को संबोधित करते हुए इमरान खान ने यह बात कही. इस्लामाबाद शहर के बीचों बीच डी-चौक पर बड़ी संख्या में पाकिस्तानी नागरिक जमा हुए और मानव श्रृंखला बनाई. पीटीआई के मुताबिक इमरान खान ने कहा, ‘नरेंद्र मोदी ने गलती की है. उन्होंने कश्मीर मुद्दे पर अपना आखिरी कार्ड खेल दिया है, लेकिन कश्मीर की जनता कभी इसे मंजूर नहीं करेगी.’ (विस्तार से)

कोई कुछ भी कहे, हम नहीं रुकेंगे : रजब तैयब एर्दोआन | शनिवार, 12 अक्टूबर 2019

तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन ने कहा कि उनका देश उत्तरी सीरिया के कथित कुर्द चरमपंथियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं रोकेगा. उन्होंने यह कार्रवाई रोकने की अन्य देशों की मांग को ‘धमकी’ करार देते हुए इसे सिरे से खारिज कर दिया. पीटीआई के मुताबिक इस्तांबुल में दिए एक भाषण में रजब तैयब एर्दोआन ने कहा, ‘ये कोई मायने नहीं रखता कि लोग क्या कह रहे हैं, हम नहीं रुकेंगे.’ तुर्की की सेना की तरफ से पूर्वोत्तर सीरिया पर किए जा रहे हवाई हमलों और गोलाबारी के चलते हजारों की तादाद में आम नागरिक इस इलाके से पलायन करने पर मजबूर हो गए हैं. (विस्तार से)

देश और दुनिया की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें.